पौड़ी, कोट, कल्जीखाल ब्लॉक में हड़ताल का असर, काम काज प्रभावित

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी : ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों का प्रदेश भर में अनिश्चित कालीन कार्य बहिष्कार और कलम बंद हड़ताल से पंचायत के कार्य प्रभावित हो रहे है। पौड़ी, कोट और कल्जीखाल ब्लॉक में कार्यबहिष्कार और हड़ताल का असर देखने को मिला। जिस कारण पंचायत स्तर में परिवार रजिस्टर नकल, जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र, राशन कार्ड सहित पंचायत संबधित सभी कार्य बाधित हो रहे है।
अपर मुख्य सचिव ग्राम्य विकास द्वारा ग्राम पंचायतों में ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों का कार्य पंचायती राज एवं ग्राम्य विकास विभाग में से किसी एक विभाग के कर्मचारी को दिए जाने संबंधी आदेश दिए गए है। उक्त निर्णय के पूर्व संभावनाओं को देखते हुए ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के प्रदेश संगठन द्वारा पूर्व में भी शासन स्तर पर अपना विरोध दर्ज करवाया गया था, जिसका संज्ञान लिए बिना उक्त आदेश को निर्गत किया गया। उक्त निर्णय के विरोध में प्रदेश भर में पंचायत सचिव अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार और कलम बंद हड़ताल पर है। ग्राम पंचायत विकास अधिकारी संगठन के जिला अध्यक्ष सुनील कोटनाला ने प्रमुख संगठन के प्रदेश अध्यक्ष को ज्ञापन सौंपा। वहीं कल्जीखाल ब्लॉक के प्रधान संगठन के अध्यक्ष रमेश चंद शाह को पंचायत सचिव कल्जीखाल ब्लॉक संगठन के अध्यक्ष अरविंद बुटोला ने ज्ञापन सौंपा। इस अवसर पर ग्राम पंचायत सचिव प्रभारी एडीओ अर्चना काला, जगत रावत, सुबोध रुडोला, जगदीश लाल, दिनेश लाल, जितेंद्र रावत, रीना, प्रमोद रावत आदि मौजूद थे। वहीं कोट ब्लॉक में विजय कप्रवाण के नेतृत्व में हनी नौटियाल, ज्योति बमरारा, पूर्ण सिंह नेगी, अरुण रावत, रोशन कुमार, रोहित ठाकुर, हिसार अली आदि ने प्रमुख कोट पूर्णिमा नेगी एवं प्रधान संगठन के अध्यक्ष विजय दर्शन बिष्ट को ज्ञापन सौंपा।

वीपीडीओ ने अपर मुख्य सचिव को भेजा ज्ञापन
जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी : ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के बहिष्कार से दूरस्थ क्षेत्रों के विकासखंडों के ग्रामीणों को जन्म प्रमाण, मृत्यु, परिवार रजिस्टर नकल लेने के लिए लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं। बीरोंखाल के वीपीडीओ संघ ने प्रमुख राजेश कंडारी के माध्यम से अपर मुख्य सचिव को ज्ञापन भेजा हैं।
बीरोंखाल ब्लाक के ग्राम पंचायत विकास अधिकारी संघ बीरोंखाल अध्यक्ष धर्मराज जोशी ने बताया कि सरकार द्वारा वीपीडीओ के कार्यात्मक एकीकरण किया गया हैं। उन्होंने कहा कि यदि सरकार एकीकरण करना चाहती है तो वहां पंचायतीराज विभाग एवं ग्राम्य विकास विभाग का पूर्ण विलय कर सहायक विकास अधिकारी को खण्ड विकास अधिकारी पद पर पदोन्नति कर दी जाए। उन्होंने चेतवानी दी की जब तक सरकार इस एकीकरण को वापस नहीं लेती तब तक अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी। ज्येष्ठ प्रमुख कुलदीप नेगी ने बताया कि दो दिनों से ग्राम पंचायत विकास अधिकारियों के हड़ताल पर जाने से लोगों को परिवार रजिस्टर नकल, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र सहित विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को लोगों की समस्या ध्यान में रखते हुए वैकल्पिक व्यवस्था करनी चाहिए। धरने पर कैलाश सिंह पापड़ा, ललित कुमार, विकास कुमार, राजेन्द्र सिंह, प्रेम सिंह नेगी आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!