15 अगस्त तक कोरोना वैक्सीन पर आईसीएमआर की सफाई

Spread the love

कोई जल्दबाजी नहीं कर रहे, सब नियमों के मुताबिक
नई दिल्ली, एजेंसी । आईसीएमआर की 15 अगस्त तक कोरोना वायरस (कोविड-19) का टीका लाने की योजना की खबरों के बाद विशेषज्ञों ने दवा बनाने की प्रक्रिया में हड़बड़ी से बचने की सलाह दी है जिस पर आईसीएमआर ने शनिवार (4 जुलाई) को कहा कि वह महामारी के लिए तेजी से टीका बनाने के वैश्विक रूप से स्वीकार्य सभी नियमों के अनुरूप काम कर रहा है।
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कहा कि उसके महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव का, क्लीनिकल परीक्षण स्थलों के प्रमुख अन्वेषकों को लिखे पत्र का आशय किसी भी आवश्यक प्रक्रिया को छोड़े बिना अनावश्यक लाल फीताशाही को कम करना तथा प्रतिभागियों की भर्ती बढ़ाना है। भार्गव ने दो जुलाई को चयनित चिकित्सा संस्थानों और अस्पतालों के प्रमुख अन्वेषकों को भारत बायोटेक के साथ साझेदारी में विकसित किए जा रहे टीके श्कोवेक्सिनश् के लिए मनुष्य के ऊपर परीक्षण की मंजूरी जल्द से जल्द देने को कहा है। उसने कहा कि दुनियाभर में इस तरह के विकसित किए जा रहे सभी अन्य टीकों पर भी काम तेज कर दिया गया है। आईसीएमआर ने कहा कि भारत के औषधि महानियंत्रक ने क्लीनिकल परीक्षणों से पूर्व के अध्ययनों से उपलब्ध आंकड़ों की गहन पड़ताल पर आधारित कोवेक्सिन के मानव परीक्षण के चरण 1 और 2 के लिए मंजूरी दी है।
आईसीएमआर ने कहा कि नए स्वदेश निर्मित जांच किट को त्वरित मंजूरी देने या कोविड-19 की प्रभावशाली दवाओं को भारतीय बाजार में उतारने में लाल फीताशाही को रोड़ा नहीं बनने देने के लिए स्वदेशी टीका बनाने की प्रक्रिया को भी, फाइलें धीरे-धीरे बढ़ने के चलन से अलग रखा गया है।
दिल्ली: कोरोना मामलों की संख्या 97 हजार के पार, 3000 से अधिक की मौत
बयान में कहा गया कि व्यापक सार्वजनिक स्वास्थ्य हित में आईसीएमआर के लिए एक प्रभावशाली स्वदेशी टीके के नैदानिक परीक्षण को तेज गति प्रदान करना महत्वपूर्ण है। उसने कहा, आईसीएमआर की प्रक्रिया पूरी तरह महामारी के लिए टीका बनाने की प्रक्रिया को तेज करने के वैश्विक रूप से स्वीकार्य नियमों के अनुरूप है जिसमें मनुष्य और पशुओं पर परीक्षण समानांतर रूप से चल सकता है।
महाराष्ट्र में कोरोना के एक दिन में रिकार्ड
7000 से अधिक मामले
मुंबई । महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस (कोविड-19) के 7,074 मामले सामने आए और 295 मौतें हुई। राज्य में अब कोरोना पजिटिव मामलों की कुल संख्या 2,00,064 है और कोरोना वायरस से होने वाली मौतों का आंकड़ा 8,671 है। राज्य में कोरोना वायरस सक्रिय मामलों की संख्या 83,295 है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार (4 जुलाई) को यह जानकारी दी।मुंबई के धारावी इलाके में शनिवार (4 जुलाई) को कोरोना वायरस संक्रमण के केवल दो नए मामले आए और इसके साथ ही वहां संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 2311 हो गई है। वहीं अब तक 86 लोगों को इस वायरस की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी है। बृहन्मुंबई महानगर निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इसकी जानकारी दी है। दिनों से इस क्षेत्र में कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा देना बंद कर दिया है। बीएमसी के अधिकारियों ने बताया कि धारावी में अब केवल 519 लोग हैं जिनका इलाज चल रहा है जबकि 1704 को इलाज के बाद अस्पताल से छुुट्टी दी जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!