अल्मोड़ा में डीडीए समाप्त करने की मांग हुई तेज

Spread the love

अल्मोड़ा। जिला विकास प्राधिकरण को समाप्त करने की मांग तेज हो गई है। सर्वदलीय संघर्ष समिति के बैनर तले विभिन्न संगठनों से जुड़े लोगों ने मंगलवार को चौघानपाटा स्थित गांधी पार्क में प्रदर्शन कर धरना दिया। उन्होंने आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी। वक्ताओं ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्राधिकरण को स्थगित करने की घोषणा के बावजूद इसका शासनादेश जारी नहीं हुआ है। समिति के संयोजक और पालिकाध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा कि नगर की जनता साढ़े तीन वर्षों से प्राधिकरण को समाप्त करने के लिए लगातार आंदोलनरत है। उन्होंने प्रदेश में की गई इस व्यवस्था को अव्यवहारिक बताया और कहा कि यह जनविरोधी साबित हुई है। जोशी ने कहा कि बीते अल्मोड़ा के दौरे पर आए सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्राधिकरण को स्थगित करने की घोषणा भी कर दी थी। लेकिन इतना समय बीतने के बाद भी अभी तक इसका शासनादेश जारी ना होना स्पष्ट करता है, कि यह मात्र एक कोरी घोषणा थी। समिति के प्रवक्ता राजीव कर्नाटक ने कहा कि पहाड़ी क्षेत्र के लोग विगत साढ़े तीन सालों से प्राधिकरण की मार झेल रहे हैं। लेकिन सरकार इसकी अनदेखी कर रही है। वक्ताओं ने कहा कि जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण को पूरी तरह समाप्त कर इसका शासनादेश जारी होने तक समिति विरोध प्रदर्शन जारी रखेगी।
ये लोग रहे मौजूद- अल्मोड़ा अर्बन को-ऑपरेटिव बैंक अध्यक्ष आनंद सिंह बगड़वाल , हेम चंद्र तिवारी, चंद्रकांत जोशी, महेश चंद्र आर्या, अख्तर हुसैन, प्रवक्ता राजीव कर्नाटक, एनडी पांडे, ललित मोहन पंत, एमसी कांडपाल, चन्द्रमणि भट्ट, पूरन लाल साह, पूरन चंद्र तिवारी, प्रताप सत्याल, लक्ष्मण सिंह ऐठानी, तारा चंद्र साह, यशवंत सिंह परिहार, पीएस बोरा आदि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!