अपोलासेरा पंप हाऊस और चारदीवारी खस्ताहाल, हादसे का बना खतरा

Spread the love
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। अपोला सेरा नैनीडांडा पंपिंग पेयजल योजना के अंतर्गत अपोलासेरा में बने पंप हाऊस और उसके आसपास बनी चारदीवारी खस्ताहाल बनी हुई है। आलम यह है कि सुरक्षा दीवार जगह-जगह से टूटी हुई है वहीं मोटर पंप हाऊस के अंदर और बाहर का प्लस्तर भी टूटकर गिर रहा है। जिस कारण जानमाल का खतरा बना हुआ है। नैनीडांडा के लोगों ने संबंधित विभाग से जल्द से जल्द पंप हाऊस व चारदीवारी की मरम्मत कराने की मांग की है।
नैनीडांडा ब्लॉक के समाजसेवी सतीश सिंह बिष्ट ने बताया कि यह योजना फरवरी अंतिम सप्ताह 2019 में शुरू हुई थी। डेढ़ साल में ही अपोलासेरा में बने पंप हाऊस और उसके आसपास बनी चारदीवारी  जगह-जगह टूट गई है। पंप आपरेटर संबंधित विभाग के अधिकारियों को इस मामले में अवगत करा चुके है, उसके बावजूद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। पंप ऑपरेटर जान जोखिम में डालकर पंप चला रहे हैं। डर बना रहता है कि मोटर पंप पंप हाऊस की छत उनके ऊपर ना गिर जाय। साथ ही यह भय बना रहता है कि कहीं आसपास बनी सुरक्षा दीवार टूटने से भी जंगली जानवर सुअर, बाघ, शेर, चीता, भालू आदि कही अंदर आकर पंप ऑपरेटरों पर हमला ना कर दें। उन्होंने कहा कि कभी किसी पंप ऑपरेटर के साथ हादसा हो गया तो कौन जिम्मेदारी लेगा। सतीर्श ंसह बिष्ट ने कहा कि नैनीडांडा और हल्दूखाल क्षेत्र में आधे से अधिक  गांव इसी योजना के पानी पर निर्भर है। अगर पंप हाऊस पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया तो क्षेत्र में पेयजल की किल्लत होने की संभावना है। उन्होंने नैनीडांडा के जन प्रतिनिधियों, राजनीतिज्ञों ओर बुद्धिजीवियों से इस मामले को अधिकारियों के समक्ष उठाने की अपील की है। ताकि समय रहते समस्या का निस्तारण हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!