बंदरों के आतंक से निजात दिलाने की मांग की

Spread the love

अल्मोड़ा। नगर में हर रोज बढ़ रहे कटखने बंदरों के आंतक से लोगों की परेशानी बढ़ते जा रही है। कटखने बंदरों से निजात दिलाने को जनाधिकार मंच ने पालिका अध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी को ज्ञापन सौंपा। मांग पूरी नहीं होने पर सितंबर माह में पालिका परिसर में आंदोलन की चेतावनी दी। जनाधिकार मंच के सदस्यों ने कहा की आए दिन बंदरों का आंतक बढ़ता जा रहा है। कहा कि हर रोज 5 से अधिक लोगों को कटखने बंदर काट कर घायल कर रहे है। लोग घरों से बाहर निकलने में डर रहे हैं। बच्चों का अकेले बाहर जाना मुश्किल हो गया है। लंबे समय से बने इस समस्या का अभी तक कोई समाधान नही हो सका। जिस कारण लोगों की परेशानियां बढ़ते जा रही है। मंच के सदस्यों ने कहा कि बंदरों का आंतक से विशेषकर लक्ष्मेश्वर, एनटीडी, त्रिपुरा सुंदरी, बालेश्वर, दुगालखोला वार्डों में लोगों का जीना मुहाल कर दिया हैं। अन्य नगर के वार्डों में भी इनका आतंक बढ़ रहा हैं। सुबह और शाम सर सपाटे में निकलने वाले बुर्जगों, महिलाओं और बच्चों में बंदरों के काटने का भय हरपल बना हुआ हैं। बंदरों के आंतक से सरकारी सम्पत्तियों को भी व्यापक नुकसान पहुंच रहा हैं। बंदर झूंड बना कर लोगों में हमला कर रहे हैं। घरों का कूड़ा कूड़ेदान में डालने जा रही महिलाओं को भी बंदर काटने के लिए झपट रहे हैं। लेकिन इस समस्या पर अभी तक पालिका कोई कार्रवाई नही कर रही है। जिससे लोग परेशान है। यहां मंच संयोजक त्रिलोचन जोशी, वरिष्ठ विधि परामर्शदाता पूर्व दर्जा राज्य मंत्री केवल सती, मनोज सनवाल, पूर्व सभासद जीवन नाथ वर्मा, सूबेदार पान सिंह बिष्ट , लक्ष्मेश्वर के सभासद अमित शाह मोनू, पंकज वर्मा, नमित जोशी, ओम प्रकाश जोशी आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!