कैबिनेट मंत्री महाराज परिवार सहित कोरोना पॉजिटिव, सीएम और कैबिनेट पर भी संक्रमण का खतरा

Spread the love

संवाददाता, देहरादून। उत्तराखंड सरकार के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज और उनके परिवार व स्टाफ के अधिकतर सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। शनिवार को सतपाल महाराज की पत्नी अमृता रावत कोरोना पॉजिटिव पाई गईं थी रविवार को उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कर दिया गया। सतपाल महाराज समेत उनके परिजनों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के चलते जिला प्रशासन ने उनके कोठी वाले क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया है।
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सतपाल महाराज सहित कुछ 41 लोगों के सैंपल लिए थे जिसमें स्टाफ के 35 लोग भी शामिल थे। कर्मचारियों में भी 17 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मंत्री सतपाल महाराज के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव समेत सरकार के सभी मंत्रियों पर भी संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। रविवार को प्रदेश में कुल कोरोना पॉजिटिव की संख्या 1000 से पार हो गई। अकेले नैनीताल जिले में 227 कोरोना पोजिटिव संक्रमित मिले हैं।
परिवार सहित स्टाफ के लोग भी घेरे में
सतपाल महाराज, उनके दो बेटे और बहुएं भी कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। एक बेटे की रिपोर्ट पर भ्रम की स्थिति है, इसलिए उनका दोबारा सैंपल लिया जाएगा। साथ ही उनके स्टाफ के 6 लोगों की दोबारा से जांच की जाएगी। वहीं 12 स्टाफ की रिपोर्ट नेगेटिव आई है।

विधानसभा क्षेत्र में भी गए थे
स्वास्थ्य विभाग सतपाल महाराज के घर काम करने वाले सभी कर्मचारियों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटीन कर दिया है। साथ ही महाराज के परिवार को देहरादून के एक होटल में क्वांरटीन किया गया है। अब परिवार के सभी कोरोना पॉजिटिव लोगों को अस्पताल भर्ती कराने की तैयारी है। कुछ दिन पहले सतपाल महाराज अपने विधानसभा क्षेत्र भी गए थे जहां उन्होंने राशन वितरण भी किया था। इस दौरान उनकी पत्नी भी साथ थीं।

कितनों में फैला संक्रमण कहना मुश्किल
अब उनके परिवार सहित कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद उनकी विधान सभा क्षेत्र के उस राशन वितरण में शामिल जनता पर भी संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। सतपाल महाराज एवं उनकी पत्नी अमृता रावत एक अध्यात्मिक गुरु भी हैं वे मानव सेवा उत्थान समिति चलाते हैं उनके तीर्थ नगरी हरिद्वार समेत देश भर में कई आश्रम भी हैं इन आश्रमों से भी तमाम अनुयायियों का उनके घर आना जाना है। ऐसे में इस संक्रमण की जद में कितने लोग हैं इसका अनुमान अभी ठीक नहीं लग सकता।

बुधवार को कैबिनेट में भी हिस्सा लिया था
सतपाल महाराज ने बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में हिस्सा लिया था उनके कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद अब सरकार के तमाम मंत्री मुख्यमंत्री और अधिकारियों के भी कोरोना टेस्ट कराने होंगे। इसके तत्काल बाद कैबिनेट में शामिल मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव समेत सभी मंत्रियों समेत अधिकारियों को भी क्वारंटीन किए जाने की बात कही जा रही थी।
लेकिन सरकार के शासकीय प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने इस मामले पर कहा कि आईसीएमआर की गाइड लाइन के अनुसार फस्र्ट कान्टेक्ट में आने वाले लोगों को ही क्वारंटीन किया जाता है। ऐसे में उन्होंने सभी कैबिनेट मंत्री और अधिकारियों के क्वारंटीन होने की बात से इनकार कर दिया। मदन कौशिक ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग सभी नियमों को देखते हुए काम कर रहा है और इस मामले में पूरी एहतियात बरतते हुए स्थिति के लिहाज से अधिकारी काम कर रहे हैं।

सीएम त्रिवेंद्र रावत हुए सेल्फ क्वारंटाइन
देहरादून। कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी अमृता रावत के कोरोना पॉजिटवि पाए जाने के तत्काल बाद ही मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने एहतियात के तौर पर सेल्फ क्वारंटाइन पर चले गए। रविवार को वे अपने आवास से नीचे दफ्तर तक के लिए नहीं उतरे। वहीं, मुख्य गेट से किसी को भी प्रवेश की इजाजत नहीं दी गई।
शुक्रवार को सचिवालय में 11 बजे से पौने तीन बजे तक चली मैराथन कैबिनेट बैठक में महाराज भी मौजूद रहे थे। शनिवार शाम को उनकी पत्नी के कोरोना पॉजिटव आने के बाद से ही सीएम त्रिवेंद्र रावत ने खास एहतियात बरतनी शुरू कर दी। हालांकि, जब से कोरोना महामारी की शुरूआत हुई, सीएम आवास में सावधानी बरती जा रही थी। इस दौरान जो भी उनसे मिलने पहुंचे, उसमें सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जा रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!