कल मनाई जाएगी ईद-उल-फितर, घर में ही करेंगे नमाज अता

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार।
ईद का त्योहार इस बार कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए मनाया जाएगा। शुक्रवार को ईद मनाई जाएगी। ईद को लेकर समाज के लोगों ने तैयारियां शुरू कर दी है। पुलिस ने लोगों से अपील की है कि वह ईद की नमाज घर पर रहकर ही अता करें और कोरोना के सभी निर्देशों का पालन करें। शुक्रवार को मुस्लिम समाज के लोग घरों में मिठी सिवैयां बनाकर ईद का त्यौहार मनाएंगे। कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार ईद का त्यौहार घर पर ही नमाज अदा कर मनाया जाएगा।
ईद-उल-फितर का त्यौहार बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है, लेकिन पिछले एक साल से चल रही कोरोना महामारी के चलते ईद का त्यौहार बड़ी सादगी के साथ मनाया जा रहा है। प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश में 18 मई तक कोरोना कफ्र्यू लगाया है। शासन की गाइड लाइन के अनुसार भीड़ भाड़ वाले स्थानों में कोरोना वायरस के फैलने का खतरा अधिक है। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए घर पर रहने और सामाजिक दूरी का पालन करना बहुत ही अनिवार्य है। कोरोना वायरस एक-दूसरे के संपर्क में आकर ही फैलता है। पुलिस ने समाज के लोगों से घर पर रहकर ही ईद की नमाज पढ़ने की अपील की है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि मस्जिद में केवल काजी सहित पांच लोग ही ईद की नमाज पढ़ सकते है। अन्य सभी लोग घर पर ही ईद की नमाज पढ़ पायेगें। कोतवाल ने सभी से कोविड गाइड लाइन का पालन करने की अपील की है।
इमाम जामा मस्जिद शहर काजी कोटद्वार मौलाना बदरूल इस्लाम अंसारी ने कहा कि शुक्रवार को ईद का त्यौहार मनाया जायेगा, लेकिन इस बार भी कोरोना महामारी की वजह से ईदगाह में ईद की नमाज नहीं होगी। सिर्फ मस्जिद में पांच लोग ही ईद की नमाज अदा करेंगे। उन्होंने कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए घरों में ही ईद की नमाज अदा करने को कहा है। ताकि किसी परिवार को कोरोना का दर्द न झेलना पड़े। उन्होंने कोरोना महामारी के चलते समाज से घरों में ही ईद की नमाज पढ़ने की अपील करते हुए कहा कि सुबह 6 से 10 बजे तक किसी भी समय नमाज अदा कर सकते है। कहा कि कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए सादगी के साथ ईद मनाये। ईद पर एक-दूसरे से मिलने न जाये, मोबादल पर ही ईद की शुभकामना दें। ईद पर विशेष ध्यान रखे कि एक दूसरे के गले न मिले और हाथ भी न मिलाये। क्योंकि ऐसा करने से कोरोना संक्रमण फैल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!