चैनल की महिला पत्रकार के खिलाफ मजदूरों को बिहार भेजने के नाम पर ठगी करने का मुकदमा दर्ज

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार पुलिस ने महिला पत्रकार के खिलाफ मजदूरों को बिहार भेजने के नाम पर ठगी करने के आरोप में संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस मामलों की जांच कर रही है। पुलिस को दी तहरीर में वादी ने कहा कि महिला पत्रकार ने गरीब मजदूरों के साथ ऐसा घिनौना कार्य किया है, जिससे कोटद्वार ही नहीं पूरे उत्तराखण्ड की बदनामी हुई है।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने बाताया कि मंगलवार को कोतवाली में तहरीर दर्ज कराते हुए वीरेन्द्र कुमार पुत्र नरेन्द्र कुमार निवासी झण्डाचौक कोटद्वार ने पुलिस को बताया कि एक चैनल की महिला पत्रकार अंजना गोयल के द्वारा वर्तमान समय में कोरोना वायरस के संक्रमण/लॉकडाउन के दौरान कोटद्वार में फंसे बिहारी मजदूरों से लॉकडाउन का फायदा उठाकर बिहारी मजदूरों को उनके घर बिहार पहुंचाने हेतु प्रत्येक व्यक्ति से 5-5 हजार रूपये किराया लिया गया। जबकि उन्हें फोन कर बिहारी मजदूरों को घर पहुंचाने हेतु बस की बुकिंग 85 हजार रूपये में की गई। जब बस के चालक द्वारा बिहारी मजदूरों को बिहार पहुंचाया गया तो उन मजदूरों ने बताया कि पत्रकार अंजना गोयल को बिहारी मजदूरों द्वारा प्रत्येक व्यक्ति द्वारा पांच-पांच हजार रूपये व नवजात शिशुओं का भी 1800 रूपये किराया दिया गया। वीरेन्द्र कुमार ने बताया कि जब उन्होंने अंजना गोयल से कहा कि तुम गरीब मजदूरों से पांच-पांच हजार रूपये ले रही हो ये गलत है और उनका पैसा वापस लौटा दो। जिस पर महिला पत्रकार उसे उल्टा फंसाने की धमकी देने लगी और कहने लगी कि तुमसे बस की बुकिंग 85 हजार रूपये में तय हुई है उससे मतलब रखो वरना गाड़ी और भी है मैं किसी और की गाड़ी बुक कर लूंगी। उन्होंने कहा कि महिला पत्रकार द्वारा तीन बसों को बुक कर बिहारी मजदूरों को बिहार पहुंचाया गया। उन्होंने बताया कि वह गत 25 मई को सामाजिक कार्यकर्ता सुधीर बहुगुणा को साथ लेकर मीडिया के साथ जशोधरपुर फैक्ट्री पहुंचा जहां झारखण्ड व बिहार जाने वाले लोग खड़े थे। इन लोगों ने मीडिया के सामने महिला पत्रकार का सच बताया। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने बताया कि वीरेन्द्र कुमार पुत्र नरेन्द्र कुमार निवासी झण्डाचौक कोटद्वार की तहरीर के आधार पर महिला पत्रकार अंजना गोयल के खिलाफ आईपीसी की धारा 406, 420, 506 के तहत दर्ज कर लिया है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

धार्मिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में भी महिला पत्रकार सहित तीन नामजद
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार पुलिस ने सोशल मीडिया में गोखले मार्ग पर मदरसा व मस्जिद का निर्माण होने की झूठी अफवाह फैलाने के आरोप में एक महिला पत्रकार समेत तीन लोगों के खिलाफ नामजद व 20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने बाताया कि शमशुद्दीन पुत्र स्व0 शर्फुद्दीन अंसारी निवासी गोखेल मार्ग कोटद्वार ने कोतवाली में तहरीर दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया कि कुछ दिन पहले उनके भाई बदरूद्दीन व पत्रकार अंजना गोयल, संजय थपलियाल 15-20 अज्ञात व्यक्तियों के साथ उनके रिपेयर होने वाले मकान में घुसकर धक्का-मुक्की व गाली-गलौच करने लगे। इन लोगों ने उनके रिपेयर होने वाले मकान में मदरसा व मस्जिद का निर्माण होने की झूठी अफवाह फेसबुक व व्हटसअप/सोशल मीडिया पर फैलाकर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का प्रयास किया गया और कोटद्वार में धार्मिक भ्रांतियां फैलाकर दंगा करवाकर जन जीवन अस्त व्यस्त करने की कोशिश की गई। कोतवाल ने बताया कि शमशुद्दीन की तहरीर के आधार पर बदरूद्दीन पुत्र स्व. शर्फुद्दीन अंसारी, पत्रकार अंजना गोयल, संजय थपलियाल समेत 20 अज्ञात के खिलाफ आईपीसी की धारा 153 (क), 295(क), 452, 504, 506, 211, 188 व 51 (बी) राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!