सीएम नीतीश ने कुशवाहा का सपना तोड़ा, कहा- मंत्रिमंडल विस्तार होगा, डिप्टी सीएम बनाने की कोई बात नहीं

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

पटना, एजेंसी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का जनता दल यूनाइटेड में विलय कराने वाले उपेंद्र कुशवाहा का सपना एक बार फिर तोड़ दिया है। पार्टी में दूसरे नंबर के पोजिशन पर रहे कुशवाहा पिछले कुछ दिनों से डिप्टी सीएम बनाए जाने की बात पर खुश हो रहे थे।
बता दें कि खुशी जताते हुए कुशवाहा बहुत कुछ बोल गए थे। लेकिन मुख्यमंत्री ने बुधवार को कह दिया कि मंत्रिमंडल विस्तार होगा और डिप्टी सीएम बनाने की कोई बात नहीं है। उन्होंने साफ कहा कि राजद कोटे से जो मंत्री हटे हैं, उनकी जगह किसी को शामिल किया जाएगा। इसके अलावा कांग्रेस के कुछ लोगों को शामिल किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा, समझ में नहीं आ रहा कि एक और उप मुख्यमंत्री बनाने की बात कहां से उठी। बीजेपी वाले साथ में थे और शुरू में ही उन्होंने दो उप मुख्यमंत्री बनाए थे। मंत्रिमंडल विस्तार में राजद के हटे मंत्रियों वाली सीट राजद को मिलेगी और कांग्रेस की संख्या बढ़ेगी।
बिहार में पिछले कुछ दिनों से नीतीश मंत्रिमंडल विस्तार की काफी चर्चा थी। इसे लेकर बिहार की सियासत गरमाई भी हुई है, वो भी ऐसी की जेडीयू के वरीय नेता उपेन्द्र कुशवाहा ने तो इशारों ही इशारों में सही, लेकिन उपमुख्यमंत्री की कुर्सी पाने की इच्छा भी जता दी थी। लेकिन इसी बीच समाधान यात्रा पर निकलने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दोनों बातों पर बयान देकर गरमाई हुई सियासत को ठंडा कर दिया है।
नीतीश कुमार समाधान यात्रा के दौरान मधुबनी के संग्राम में मिथिला हाट का लोकार्पण करने आए थे। इसी दौरान मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए सीएम ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार की जो चर्चा है, वो गठबंधन की सातों पार्टियों के लिए नहीं है। कुशवाहा के उप मुख्यमंत्री बनने की कयासों पर विराम लगाते हुए नीतीश कुमार ने कहा, पता नहीं ये बात कहां से आ गई।
मैंने सुना है कि उप मुख्यमंत्री पद को लेकर चर्चा हो रही है। उप मुख्यमंत्री की बात सुना ये फालतू बात है। उन्होंने देसी अंदाज में कहा कि काहे के लिए ये सब चीज दिमाग में आता है लोगों के। जाहिर है नीतीश कुमार के इस बयान से बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार के साथ-साथ उपेन्द्र कुशवाहा को लेकर भी तस्वीर पूरी तरह से साफ हो गई है। नीतीश कुमार के इस बयान को उपेन्द्र कुशवाह के लिए झटका भी माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!