समय पर पूरा करें विकास कार्य: जिलाधिकारी

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी: जिलाधिकारी गढ़वाल डॉ0 विजय कुमार जोगदण्डे की अध्यक्षता में केन्द्र पोषित, राज्य पोषित, जिला योजना और अन्य विकास कार्यों के सम्बन्ध में बैठक आयोजित की गयी। इस दौरान जिलाधिकारियों ने विभागीय अधिकारियों को विकास कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए।
आयोजित बैठक में जिला योजना के प्रस्तावों को अधिक सत्त, समावेशी, व्यावहारिक और प्रासंगिक बनाने के निर्देश दिये, जिससे संसाधनों का बेहतर प्रबन्धन करते हुए कम वित्तीय धनराशि में भी कम समय में अधिक-से-अधिक विकासात्मक और जनकल्याणकारी लक्ष्य प्राप्त हो सके। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि वित्तीय और भौतिक प्रगति को स्पष्ट और पारदर्शी बनाने के लिए तकनीकि व व्यावहारिक आधारित मूल्यांकन निगरानी और सत्यापन सुनिश्चित हो। उन्होंने कहा कि स्वरोजगार से जुड़ी योजनाओं और कार्यक्रमों के लिए कम से कम 15 प्रतिशत बजट जिला योजना में अनुमोदित करें। अर्थ एवं संख्याधिकारी को निर्देशित किया कि स्वरोजगार हेतु चिन्हित किये गये लोगों तथा उनको स्वरोजगार प्रदान करने का लक्ष्य बनाये। जिला योजना में प्रस्ताव अधिक व्यावहारिक व प्रासंगिक रखे जो अनिवार्य रूप से एक अथवा अधिक से अधिक दो वित्तीय वर्ग में जरूय पूरा हो सके। बड़े प्रस्ताव केन्द्रीय व राज्य पोषित योजनाओं में रखे। कहा कि बजट आंवटन नियमानुसार अनिवार्य रूप से 19 प्रतिशत एस.सी.एस.पी. तथा 3 प्रतिशत टीएसपी योजना में प्राथमिकता से खर्च करें। कहा कि विभागवार प्रस्ताव इस तरह बनायें जिसमें सेक्टर/कार्ययोजना की संकल्पना, उदेश्य व लक्ष्य शामिल होने के साथ-साथ अभिनव पहल से सम्बधित कार्यो को भी शामिल करें। नई/चालू योजनाओं का औचित्य सहित विवरण हो तथा सतत् विकास लक्ष्यों के उद्देश्यों की प्राप्ति हो। कहा कि इस बार सभी निर्माण कार्यों की मॉनिटरिंग हेतु तृतीय पक्ष जांच के लिए टास्क फोर्स विकासखण्ड वार गठित की जाये। प्रस्तावों में अन्तर्विभागीय कार्यों को पूरा करने के लिए युगपतीकरण एवं अभिसरण फलीभूत हो सके। कार्य प्रारम्भ करने से पूर्व, कार्य के समय व पूर्ण होने पर (तीन टाइम) जियो टैगिंग करें तथा फोटोग्राफ्स उपलब्ध करायें। कहा कि सौंदर्यीकरण व साज-सज्जा के कार्यो को विभागीय मद से करवायें तथा उन्हें जिला योजना में न रखें। आयोजित बैठक में विभागीय अधिकारियों ने ऑनगोइंग विकास कार्यो और कल्याणकारी योजनाओं की वित्तीय और भौतिक प्रगति बतायी। कहा कि 15 जून तक जिला योजना प्लान के प्रस्ताव उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। आयोजित बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत आर्य, अपर जिलाधिकारी ईला गिरि, पी.डी.डीआरडीए संजीव कुमार राय, जिला विकास अधिकारी पुष्पेंद्र चौहान, पर्यटन अधिकारी प्रकाश खत्री, डीपीआरओ जितेन्द्र कुमार, खेल अधिकारी गिरीश कुमार, उरेडा अधिकारी शिव सिंह मेहरा, सहित सम्बधित अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!