डिप्टी सीएम और प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाया

Spread the love

जयपुर। अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत सचिन पायलट, विशवेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्री पद से हटाया गया है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने एक षडयंत्र के तहत राजस्थान की 8 करोड़ जनता के सम्मान को चुनौती दी है।राजस्थान की सियासत में चल रहे उठा-पटक के बीच कांग्रेस ने बड़ा एक्शन लिया है। सचिन पायलट से किनारा करते हुए कांग्रेस पार्टी ने उप मुख्यमंत्री पद और प्रदेश अध्यक्ष का पद छीन लिया है। विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्री पद से हटाया गया। गोविंद सिंह डोटासरा को नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत सचिन पायलट, विशवेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्री पद से हटाया गया है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने एक षडयंत्र के तहत राजस्थान की 8 करोड़ जनता के सम्मान को चुनौती दी है। बीजेपी ने साजिश के तहत कांग्रेस की सरकार को अस्थिर कर गिराने की साजिश की है। बीजेपी धनबल और सत्ताबल से कांग्रेस पार्टी और निर्दलीय विधायकों को खरीदने की कोशिश की है।
गहलोत बोले- महज भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं
जयपुर,एजेंसी। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को कहा कि बगावत करने वाले सचिन पायलट के हाथ में कुछ नहीं है और वे केवल भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं।
राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात करने के बाद गहलोत ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा मध्य प्रदेश के खेल को राजस्थान में भी दोहराना चाहती थी और यह सब पिछले छह महीने से चल रहा था। गहलोत ने कहा कि पायलट व उनके साथ गए अन्य मंत्रियों, विधायकों को मौका दिया गया, लेकिन वे न तो सोमवार को और न ही मंगलवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक में आए। गहलोत ने कहा, सचिन पायलट के हाथ में कुछ भी नहीं हैं। वह तो केवल भाजपा के हाथ में खेल रहे हैं ़.ज़ो रिसर्ट सहित बाकी सारे बंदोबस्त करने में जुटी है। उन्होंने कहा कि पिछले छह महीने से राज्य में विधायकों की खरीद फरोख्त के प्रयास चल रहे थे। पायलट सहित तीन मंत्रियों को उनके पदों से हटाए जाने के फैसले की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि पार्टी ने मजबूर होकर यह फैसला किया है। गहलोत ने कहा, आज के फैसले से कोई खुश नहीं है, न पार्टी, न आलाकमान। गहलोत ने कहा कि उन्होंने किसी की पार्टी आलाकमान से शिकायत नहीं की।

प्रिया दत्त भी सचिन पायलट के समर्थन में उतरीं
नई दिल्ली। कांग्रेस की युवा नेता और पूर्व सांसद प्रिया दत्त भी सचिन पायलट के समर्थन में उतर आई हैं। उनका कहना है कि कांग्रेस पार्टी ने सचिन और ज्योतिरादित्घ्य सिंधिया के रूप में दो युवा नेताओं को खो दिया। इससे पहले उत्तर प्रदेश कांग्रेस के युवा नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद भी राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट के समर्थन में उतरे। प्रसाद ने कहा कि इससे कोई इन्कार नहीं कर सकता कि सचिन पायलट ने पूरी ईमानदारी और समर्पण के साथ कांग्रेस पार्टी में काम किया है। ऐसे में कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। राजस्थान में भी भाजपा ने फ्लोर टेस्ट की मांग कर अशोक गहलोत की परेशानी बढ़ा दी है। जितिन प्रसाद के बाद प्रिया दत्घ्त ने भी सचिन पायलट का समर्थन किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, श्एक और दोस्त ने पार्टी छोड़ दी है। सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया दोनों के साथ ही मैंने काम किया। ये दोनों ही मेरे अच्छे दोस्त भी हैं, लेकिन दुर्भाग्य से हमारी पार्टी ने बड़ी संभावनाओं वाले दो युवा नेताओं को खो दिया है। मैं यह बिल्घ्कुल नहीं मानती कि महत्वाकांक्षी होना गलत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!