गढ़वाल सांसद ने किया कारसेवक रामकिशन का सम्मान

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं गढ़वाल लोकसभा के सांसद तीरथ सिंह रावत ने श्री रामजन्मभूमि आन्दोलन में 20 दिनों तक जेल में रहे कारसेवक रामकिशन को सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से पिछले 500 वर्षों से देश के सांस्कृतिक और सामाजिक आदर्श भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर बाबर के वंशजों ने अतिक्रमण किया हुआ था और उसी कालखंड से रामभक्त अपने आराध्य श्री राम की जन्मभूमि को मुक्त कराने के लिए बलिदान देते आये हैं। उन्होंने कहा कि जन्मभूमि में भव्य मंदिर का निर्माण रामकिशन जैसे लाखों-करोड़ों कारसेवकों के समर्पण एवं त्याग की वजह से हो रहा है।
सुप्रीम कोर्ट द्वारा श्री राम मन्दिर के पक्ष में दिए गए फैसले के बाद 5 अगस्त को अयोध्या में धूमधाम से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संत समाज की मौजूदगी में भगवान श्री राम के भव्य मन्दिर का शिलान्यास किया था। गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने जन्मभूमि आंदोलन में 20 दिनों तक जेल में बिताने वाले रामभक्त रामकिशन का उनकी दुकान में जाकर अंगवस्त्र भेंटकर सम्मान किया और उनकी कुशल क्षेम पूछी। इस अवसर पर भाजपा सांसद तीरथ सिंह रावत ने रामभक्त रामकिशन सहित उन सभी कारसेवकों के योगदान का स्मरण किया, जिन्होंने श्री राम जन्मभूमि आंदोलन में बढ़ चढ़कर भाग लिया। उन्होंने देश-दुनिया के साथ ही उत्तराखंड के रामभक्तों के योगदान को श्री राम मन्दिर निर्माण के लिए महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि सदियों से जन्मभूमि में श्री राम मन्दिर निर्माण की मांग ने 1990 के दशक में प्रचण्ड वेग लिया और अनेक कारसेवकों के बलिदान एवं समर्पण की परिणीति रही कि 5 अगस्त को देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत की सांस्कृतिक परम्परा के आराध्य और आदर्श भगवान श्री राम के भव्य मंदिर का शिलान्यास कर करोड़ों रामभक्तों से सपने को साकार किया। इस मौके पर सांसद प्रतिनिधि उमेश त्रिपाठी, नगर अध्यक्ष सुनील गोयल, भाजपा नेता राज गौरव नौटियाल, भाजयुमो जिलाध्यक्ष अमित भारद्वाज, गोविंद लड्ढा, गुमान थापा, सुरेन्द्र बिजल्वाण, मनमोहन पाण्डेय, विजय सती आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!