वैदिक मंत्रोचार के साथ खुले केदारनाथ मंदिर के कपाट

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

 

रुद्रप्रयाग। हिमालय स्थित ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ के कपाट वैदिक मंत्रोचार एवं पौराणिक पंरम्परा के अनुसार देश-विदेश के तीर्थयात्रियों के दर्शनार्थ खोल दिए गए। शुक्रवार सुबह 6:25 मिनट पर केदारनाथ रावल, मुख्य पुजारी की मौजूद्गी में परम्परानुसार मंदिर का मुख्य द्वार खोला गया। मंदिर में पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम की गई। पहले दिन सीएम और डीजीपी ने बाबा केदार के दर्शन किए। इधर, पहले ही दिन दर्शनों के लिए करीब 20 हजार से अधिक तीर्थयात्री केदारनाथ धाम पहुंचे। शुक्रवार को सुबह केदारनाथ धाम में पौने छह बजे बाबा की उत्सव डोली भक्तों के जयकारों और सेना के बैंडों की मधुर धुनों के बीच मंदिर परिसर पहुंची। जबकि इसके बाद केदारनाथ रावल भीमाशंकर लिंग, मुख्य पुजारी गंगाधर लिंग, मुख्यमत्री पुष्कर सिंह धामी, जिलाधिकारी मयूर दीक्षित, बीकेटीसी के सीईओ बीडी सिंह, पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल की मौजूद्गी में मंदिर के द्वार पर कपाट खुलने का परम्परा के लिए लोग जुटे। भक्तों के बम बम भोले के जयघोषों के बीच बीच रावल द्वारा भगवान शिव के ग्रीष्मकाल और शीतकाल को लेकर पूजा का वर्णन भक्तों को बताया गया। वैदिक मंत्रोचार के साथ 6:25 मिनट पर मंदिर के कपाट खोले गए। रावल और मुख्य पुजारी ने सबसे पहले मंदिर के अंदर प्रवेश कर अखंड ज्योति के दर्शन किए जबकि इसके बाद यह मौका भक्तों को दिया गया।
मंदिर में पहली पूजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से की गई। इसके बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने परिवार सहित बाबा केदार से आशीर्वाद लिया। इस मौके पर सीएम ने केदारनाथ धाम में प्रथम रुद्राभिषेक पूजा करते हुए प्रदेशवासियों की सुख समृद्घि की कामना की। अब भगवान शिव की छह महीने तक केदारनाथ धाम में पूजा अर्चना की जाएगी। जबकि शीतकाल के दौरान शीतकालीन गद्दीस्थल ओंकोरश्वर मंदिर में भगवान केदारनाथ की पूजा अर्चना की जाती है। कपाट खुलने के लिए मंदिर को 11 कुंतल फूलों से सजाया गया था।
यह लोग रहे मौजूदरू इस मौके पर रावल भीमाशंकर लिंग, प्रमुख पुजारी गंगाधर लिंग, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, डीजीपी अशोक कुमार, केदारनाथ विधायक शैलारानी रावत, बीकेटीसी के अध्यक्ष अजेंद्र अजय, केदारसभा के अध्यक्ष विनोद शुक्ला, बीकेटीसी के सीईओ बीडी सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, भाजपा जिला अध्यक्ष दिनेश उनियाल, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष करण मेहरा, पूर्व विधायक मनोज रावत, अपर मुख्य सचिव आनंद बर्धन, सचिव धर्मस्व हरीश सेमवाल, आयुक्त गढ़वाल सुशील कुमार, डीआईजी गढ़वाल करन नगनियाल, जिलाधिकारी मयूर दीक्षित पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल, अपर मुख्य कार्याधिकारी केदारनाथ योगेंद्र सिंह, श्रीनिवास पोस्ती, यात्रा मजिस्ट्रेट केएन गोस्वामी, सदस्य मंदिर समिति आशुतोष डिमरी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी राजकुमार नौटियाल, मंदिर प्रशासनिक अधिकारी यदुवीर पुष्पवान आदि मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!