कोटद्वार भाबर की सड़कों का कायाकल्प करने को सात करोड़ जारी, पूर्व मंत्री टाइगर सफारी मामले में जनता को कर रहे भ्रमित

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार भाबर की सड़कों का सात करोड़ की धनराशि से कायाकल्प होगा। शासन की ओर से इसके लिए धनराशि भी स्वीकृत कर ली गई है। स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के काबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने कहा कि जल्द ही सड़कों का निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। सड़कों के निर्माण के लिए सात करोड़ की धनराशि जारी कर दी गई है। पूर्व में कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र में सड़कों के निर्माण के लिए 40-50 करोड़ रूपये स्वीकृत किये गये थे। उन्होंने कहा कि खोह और मालन नदी में लगभग 15 करोड़ की धनराशि से दो झीलें बनाई जाएगी। वहीं सिद्धबली से सनेह तक नगर वन बनाया जायेगा।
गुरूवार को कोटद्वार स्थित आवास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए वन एवं पर्यावरण मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने कहा कि वह कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। कोटद्वार में विकास कार्यों के लिए करोड़ों रूपये स्वीकृत कर लिये गये है। जल्द ही विभिन्न मोटर मार्गों का निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय विशेष सहायता योजना के अन्तर्गत स्व. जगमोहन सिंह नेगी मोटर मार्ग, कुम्भीचौड़-रामपुर-सनेह मोटर मार्ग, हॉटीकल्चर से खड़ी नहर मोटर मार्ग, कोटद्वार स्टेशन से मालगोदाम मोटर मार्ग, लालपानी मुख्य मार्ग से गुरूरामराय शहीद स्मारक मोटर मार्ग के आबादी वाले मार्गों का बीसी द्वारा सुधार/नवीनीकरण का कार्य, स्व. जगमोहन सिंह नेगी मोटर मार्ग के आबादी वाले मार्गों पर बीसी/नवीनीकरण का कार्य, किशनपुर-झण्डीचौड़ मोटर मार्ग, लालढांग-चिल्लरखाल-कोटद्वार-पाखरौ मोटर मार्ग, कौड़िया-मोटाढांग मोटर मार्ग, कौड़िया-देवीमंदिर मोटर मार्ग, मानपुर-शिवपुर मोटा मार्ग, निम्बूचौड़-मवाकोट मोटर मार्ग, कोटद्वार-मोटाढांक-कण्वाश्रम मोटर मार्ग, पदमपुर-सिम्मलचौड़ मोटर मार्ग, मोटाढांग-मवाकोट मोटर मार्ग, मगनपुर-गूलरझाला मोटर मार्ग, देवीरोड जल निगम स्टोर से दक्षिण कण्डी मोटर मार्ग निर्माण के लिए करीब सात करोड़ की धनराशि जारी कर दी गई है।
काबीना मंत्री डॉ. रावत ने कहा कि प्रदेश में दो नगर वन केन्द्र सरकार की ओर से बनाये जाएगें। इसके लिए केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेज दिया गया है। कोटद्वार विधानसभा क्षेत्र के सिद्धबली मंदिर से सनेह तक करीब 35 हेक्टेयर भूमि में नगर वन बनाया जाएगा। इसमें योगा पार्क, इको पार्क, रेस्टोरेंट सहित अन्य सुविधाएं विकसित की जाएगी। नगर वन के लिए केन्द्र सरकार की ओर से प्रति हेक्टेयर 4 लाख रूपये दिये जायेगें। उन्होंने कहा कि नगर वन बनने से जहां सनेह क्षेत्र को पहचान मिलेगी वहीं स्थानीय युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। काबीना मंत्री ने कहा कि खोह नदी में दुर्गादेवी मंदिर से सिद्धबली मंदिर तक झील का निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा मालन नदी में भी एक झील का निर्माण होगा। झीलों के निर्माण के लिए 15 करोड़ रूपये की व्यवस्था की गई है। इस मौके पर वन मंत्री के पीआरओ विनोद रावत, जनसम्पर्क अधिकारी सीपी नैथानी, भाजपा के वरिष्ठ नेता भुवनेश खर्कवाल, भाजयुमो प्रदेश प्रवक्ता अमित भारद्वाज, दीपू पोखरियाल, मनीष रावत, सुधीर बहुगुणा आदि मौजूद थे।

टाइगर सफारी मामले में पूर्व मंत्री जनता को कर रहे भ्रमित
कोटद्वार। स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के काबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने टाइगर सफारी मामले में जनता को भ्रमित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि जनता के सामने गलत तथ्य नहीं रखने चाहिए। विकास कार्यों को लेकर राजनीति नहीं बल्कि सहयोग करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पाखरों में टाइगर सफारी होने से कोटद्वार में एक नई क्रांति आयेगी। यह कोटद्वार के विकास में मील का पत्थर साबित होगी। मंत्री ने उदाहरण देते हुए कहा कि जब पर्यटक ढिकाला जाते है तो उससे रामनगर को फायदा होेता है, उसी प्रकार जब पर्यटक पाखरो जायेगें तो कोटद्वार को भी बहुत फायदा होगा। स्थानीय लोगों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा। काबीना मंत्री डॉ. रावत ने कहा कि पूर्व मंत्री को चुनाव हारने का अनुभव है जबकि उन्हें चुनाव जीतने का अनुभव है। पूर्व मंत्री राज्य बनने के बाद दो चुनाव हारे है और दो जीते है, जबकि वह चारों चुनाव जीते है। पूर्व मंत्री नकारात्मक राजनीति करते है और वह सकारात्मक राजनीति करते है। उन्होंने पूर्व मंत्री के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कोटड़ीढांग में टाइगर सफारी बनाना सम्भव नहीं था। गुजरस्रोत से पाखरो गेट तक टाईगर सफारी बनाई जा रही है। टाईगर सफारी बनने के बाद कंडी मार्ग का रास्ता खुल जायेगा। क्योंंकि टाईगर सफारी प्राकृतिक जू है।

हाथी सुरक्षा दीवार को दस करोड़ स्वीकृत
कोटद्वार। स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के काबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने कहा कि कोटद्वार विधासनभा क्षेत्र में हाथी सुरक्षा दीवार बनाने के लिए दस करोड़ रूपये स्वीकृत कर दिये गये है। जल्द ही हाथी सुरक्षा दीवार का निर्माण कार्य शुरू करा दिया जायेगा। बता दें कि वर्ष 2014-15 में सनेह क्षेत्र के रामपुर में हाथियों को रोकने के लिए करीब 1150 मीटर सुरक्षा दीवार बनाई गई थी। उम्मीद जताई जा रही थी कि सुरक्षा दीवार बनने के बाद हाथी आबादी में प्रवेश नहीं कर पाएंगे, लेकिन छह वर्षों में ही हाथी सुरक्षा दीवार जगह-जगह क्षतिग्रस्त क्षतिग्रस्त हो चुकी है। ढलते ही हाथियों का झुंड आबादी क्षेत्र में पहुंच जाता है। वहीं झण्डीचौड़ क्षेत्र में हाथी सुरक्षा दीवार न होने से हाथियों का झुंड आये दिन खेतों में घुसकर फसलों को नुकसान पहुंचाते है। कोटद्वार की जनता पिछले काफी समय से हाथियों के आतंक से निजात दिलाने के लिए हाथी सुरक्षा दीवार बनाने की मांग कर रहे है। इस संबंध में पूर्व में वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत को ज्ञापन सौंपा गया था। जिसका संज्ञान लेते हुए वन मंत्री ने हाथी सुरक्षा दीवार के लिए 10 करोड़ रूपये स्वीकृत करा दिये है।

लालबत्ती चौराहे पर लगेगी हाई पॉवर मास्क लाइट
कोटद्वार। स्थानीय विधायक एवं प्रदेश के काबीना मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने कहा कि राजकीय इंटर कॉलेज कोटद्वार के पास लालबत्ती चौराहे पर हाई पॉवर मास्क लाइट लगाई जाएगी। इसके लिए नगर निगम के नगर आयुक्त को निर्देशित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि कब्जा हटाना महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि अतिक्रमण हटाने के बाद जनहित में लाना महत्वपूर्ण है। वर्तमान में लालबत्ती चौराहे से लेकर बदरीनाथ मार्ग से अतिक्रमण हटाया जा रहा है। नगर आयुक्त को अतिक्रमण हटने के बाद जनहित के उपयोग हेतु फुटपाथ बनाने के लिए इस्टीमेंट बनाकर नगर विकास को भेजने को कहा गया है। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण के बाद खाली हुई भूमि पर नगर विकास के माध्यम से निर्माण कार्य कराया जाएगा। काबीना मंत्री ने कहा कि योजनाओं का सही लाभ जनता को मिलना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!