कोटद्वार के युवक ने ऑनलाइन मोबाईल को 92 हजार डाले खाते में, कम्पनी निकली फर्जी

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। कोटद्वार में ऑनलाइन ठगी की घटनाएं बढ़ती जा रही है। इस बार एक युवक ठगी का शिकार हुआ है। युवक के साथ ऑनलाइन मोबाईल फोन खरीदने के नाम पर ठगी हुई है। पीड़ित ने कोतवाली में तहरीर दर्ज कराकर ठगी का पैसा वापस दिलाने की मांग की है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर जांच शुरू कर दी है।
शिवालिक नगर कोटद्वार निवासी रिया गुप्ता पत्नी नितिन कुमार गुप्ता ने कोतवाली में तहरीर दर्ज कराते हुए बताया कि उनका खाता पंजाब नेशनल बैंक में है। उनके बेटे अक्षत कुमार गुप्ता ने 15 दिसम्बर 2020 को ओएलएस कम्पनी से एक मोबाईल फोन खरीदना चाहा तो ओएलएस कम्पनी के द्वारा मोबाईल डिलिवरी के लिए कम्पनी को गूगल पे के माध्यम से पैसे भेजने को कहा। जिस पर 16 दिसम्बर 2020 को 320, 3 हजार, 2 हजार, 999, 5 हजार 1 सौ, 2 हजार, 4 हजार, 4 हजार, 5 हजार और 17 दिसम्बर 2020 को 1 हजार, 25 हजार, 10 हजार, 10 हजार और 5 हजार रूपये गूगल पे के माध्यम से जमा कराये गये। इस तरह से उनके बेटे अक्षत कुमार गुप्ता ने उनके पंजाब नेशनल बैंक के खाते से ओलएलएक्स कम्पनी के खाते में 92 हजार 4 सौ 19 रूपये का भुगतान किया है। लेकिन अभी तक उसका फोन नहीं आया है। रिया गुप्ता ने कहा कि उक्त व्यक्ति ने ओएलएक्स नाम से फर्जी कंपनी बनाकर उनके बेटे से ठगी की गई है। कंपनी की स्कीमों के बारे में मोबाइल से बात करते थे और पैसे जमा कराने के लिए दबाव बनाते थे। इन लोगों ने ओएलएक्स नाम से ऑनलाइन खरीद का झांसा देकर उनके पुत्र से ठगी गई है। उन्होंने पुलिस ने ठगी/धोखाधड़ी के सम्बन्ध में मुकदमा दर्ज कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। साथ ही ठगी की गई धनराशि को वापस दिलाने की मांग की है। कोतवाली कोटद्वार के वरिष्ठ उपनिरीक्षक प्रदीप नेगी ने बताया कि रिया गुप्ता पत्नी नितिन कुमार गुप्ता की ओर से ठगी को लेकर तहरीर दर्ज कराई गई है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच बाजार पुलिस चौकी प्रभारी संदीप शर्मा को सौंपी गई है।

ऐसे करते हैं ठगी
कोटद्वार। कोतवाली कोटद्वार के वरिष्ठ उपनिरीक्षक प्रदीप नेगी ने बताया कि साइबर विशेषज्ञों का कहना है कि गूगल पे, फोनपे, भीम एप आदि का चलन डिजिटल लेन-देन करने के लिए अब काफी बढ़ गया है। कई लोग हैं, जो पेमेंट एप पर आए मैसेज को ध्यान से नहीं पढ़ते और जल्दी से पे वाली जगह पर टैप पर देते हैं और धोखाधड़ी का शिकार हो जाते हैं।

यह रखें ध्यान
कोटद्वार। कोतवाली कोटद्वार के वरिष्ठ उपनिरीक्षक प्रदीप नेगी ने बताया कि बैंक कभी भी अपने ग्राहकों से गोपनीय जानकारी फोन पर नहीं पूछता है। यदि आपके पास बैंक के नाम से कोई कॉल आती है तो अपनी बैंक शाखा के प्रबंधक से संपर्क करें। फर्जी कॉल होने पर तत्काल पुलिस को भी बताएं। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन ठगी से बचने के लिए जागरूकता ही एकमात्र उपाय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!