कोटद्वार में कैसे हटेगा फुटपाथ का अतिक्रमण, देखिये एनएच की चौड़ाई की सूची

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। उत्तराखण्ड हाईकोर्ट नैनीताल के आदेश पर कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के अन्तर्गत नजूल भूमि एवं नेशनल हाईवे (एनएच) पर स्थित जन सुविधा के लिए बनाये गये फुटपाथों से अवैध अतिक्रमण हटाने की शुरूआत भले ही नगर निगम और प्रशासन ने कर ली हो। लेकिन जिस तरह से अभी पहले चरण में एनएच पर स्थित फुटपाथों का अतिक्रमण चिन्हित कर उनका अतिक्रमण हटाया जा रहा है। उससे यह लग रहा है कि नगर निगम व प्रशासन उत्तराखण्ड हाईकोर्ट नैनीताल के आदेश को पूरे मन से लागू नहीं कर पा रहे है।
कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के अन्तर्गत सीमा कौड़िया से सिद्धबली मंदिर तक नेशनल हाईवे पर स्थित नजीबाबाद रोड व बदरीनाथ रोड पर मार्र्केट में जन सामान्य की सुविधा के लिए बनाये गये फुटपाथ का चिन्हिकरण नगर निगम द्वारा एनएच द्वारा उपलब्ध कराई गई सड़क की माप के हिसाब से कराया जा रहा है। लेकिन एनएच द्वारा अभी तक नजीबाबाद रोड व बदरीनाथ मार्ग पर पूरे ढंग से अपनी सड़क का चिन्हिकरण नहीं किया गया है। जिससे नगर निगम को सड़क का चिन्हिकरण करने की मनमानी करने का मौका मिल रहा है। एचएच द्वारा अपनी सड़क का चिन्हिकरण न किये जाने के कारण नगर निगम के द्वारा लगाये गये चिन्हिकरण को कई स्थानों पर बदला गया है। इस चिन्हिकरण को नगर निगम के कर्मचारी बदल रहे या भवन स्वामी इस बात का खुलासा नगर निगम नहीं कर पा रहा है। अलबत्ता नगर निगम कोटद्वार के आयुक्त पीएल शाह ने यह जरूर कहा है कि अगर किसी के द्वारा नगर निगम द्वारा किये गये चिन्हिकरण के निशान को बदला जाता है तो उस पर कानूनी कार्यवाही तक की जा सकती है।
नगर निगम द्वारा अतिक्रमण को हटाने के लिए किये जा रहे चिन्हिकरण के तहत न तो यह बताया जा रहा है कि संबंधित भवन के आगे एनएच की कितनी चौड़ाई है और न ही यह बताया जा रहा है कि आपके आगे जन सुविधा के लिए छोड़ा गया फुटपाथ कितना चौड़ा है। वर्तमान में कोटद्वार मार्र्केट में स्थित फुटपाथों पर हुए अतिक्रमण को नगर निगम द्वारा भवन स्वामी के स्वीकृत मानचित्र के अनुसार नापा जा रहा है। लेकिन इसमें कहीं भी यह ध्यान नहीं रखा जा रहा है कि एनएच की सड़क कहां तक स्थित है। एनएच के अधिकारियों द्वारा आम जनता द्वारा पूछे जाने पर यदपि सड़क की चौड़ाई तय मानक में न बताकर नाली से नाली बताई जा रही है। यानि की एनएच द्वारा अपनी सड़क की चौड़ाई मीटर में न बताकर नाली से नाली मान ली गई है। इसी मानक को लेकर नगर निगम द्वारा नाली से आठ फुट फुटपाथ नापकर खाली करने को कहा जा रहा है। जबकि एनएच द्वारा बड़े जद्दोजेहाद के बाद उपलब्ध कराई गई नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत एनएच की चौड़ाई मीटर में दी गई है। जो कि विभिन्न स्थानों पर भिन्न-भिन्न है, फिर भी आम जनता को एनएच द्वारा मीटर में दी गई सूची से कोटद्वार के भवन स्वामियों को अपनी सीमा जानने में आसानी होगी।
एनएच द्वारा अपनी सड़क की चौड़ाई की मापिंग न करने से आज भी फुटपाथ के साथ लगे भवनों के स्वामियों को इस बात की आशंका बनी हुई है कि यदि भविष्य में एनएच की पुन: माप की जाती है और उसमें फिर अतिक्रमण निकलता है तो फिर उन्हें कहीं अपने भवनों को दोबारा से तोड़ने या जोड़ने को मजबूर न होना पड़े।

road width detail(1)

एनएच विभाग द्वारा उपलब्ध कराई अपनी सड़क की चौड़ाई की जो सूची हमें मिली है उसे हम यहां प्रस्तुत कर रहे है ताकि आम भवन स्वामी एनएच विभाग से इस सूची को प्रमाणित करा ले और अतिक्रमण के खौफ से बेफ्रिक हो जाये। यह सूची हमें चूंकि सोशल मीडिया के माध्यम से उपलब्ध कराई गई है, इसलिए हम इसकी प्रमाणिता की पुष्टि नहीं करते है। भवन स्वामी स्वयं प्रमाणिकता की जिम्मेदारी लें। हालांकि एनएच की चौड़ाई की सूची को देखकर ऐसा लग रहा है कि नेशनल हाईवे विभाग ने इसे वर्तमान में मौके पर देखकर अपने आप ही बिना पुराने तथ्यों व दस्तावेजों के बना डाला है। देखियें सूची-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!