पौड़ी ब्लड बैंक में ब्लड के साथ-साथ कार्मिकों का भी टोटा

Spread the love

पौड़ी। जनपद मुख्यालय के जिला अस्पताल का ब्लड बैंक रक्त के साथ-साथ कर्मचारियों की कमी से भी जूझ रहा है। वर्तमान में ब्लड बैंक में मात्र पांच से छह यूनिट ब्लड ही उपलब्ध है। हालांकि, ब्लड बैंक प्रभारी का कहना है कि आवश्यकता के अनुसार ब्लड उपलब्ध हो जाता है। ब्लड बैंक के पास रक्तदाताओं की सूची है। आवश्यकता पड़ने पर रक्तदाता को बुलाया जाता है। वहीं यहां अधिकांश पद भी रिक्त हैं, जिससे यहां तैनात कर्मियों को खासी परेशानी उठानी पड़ती है।
पौड़ी जिला अस्पताल में कोट, पाबौ, खिर्सू, पौड़ी, कल्जीखाल, थलीसैंण, पोखड़ा विकासखंड के ग्रामीण इलाज के लिए जिला अस्पताल पहुंचते हैं। जिला अस्पताल में 100 यूनिट की क्षमता का ब्लड बैंक है। वर्तमान में ब्लड बैंक में पांच से छह यूनिट ब्लड ही उपलब्ध बताया जा रहा है। बीते 14 जून को विश्व रक्त रक्तदाता दिवस के अवसर पर रक्त दान शिविर का आयोजन किया गया था, लेकिन मात्र पांच लोगों ने ही रक्तदान किया था। ब्लड बैंक में तैनात लैब टेक्नोलॉजिस्ट नवीन कठैत ने बताया कि अधिकांशत: ब्लड की आवश्कता होने पर रक्तदाताओं को फोन कर बुलाया जाता है। ब्लड बैंक में रक्तदाताओं की सूची है। जिला चिकित्सालय के ब्लड बैंक प्रभारी डॉ. अजय प्रताप ने बताया कि ब्लड बैंक में कर्मचारियों की कमी है। आधे से अधिक पद खाली हैं। वर्तमान में ब्लड बैंक में प्रभारी, एक लैब टेक्नीशियन व वार्ड ब्वाय ही कार्यरत हैं। जबकि यहां दो मेडिकल ऑफीसर, दो टेक्नीशियन, एक डाटा ऑपरेटर व दो वार्ड ब्वाय के पद स्वीकृत हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!