रिखणीखाल में बाल विकास कार्यालय रहा बंद, शिकायत पर प्रभारी को भेजा नोटिस

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। रिखणीखाल ब्लॉक के बयेला तल्ला स्थित बाल विकास विभाग का मुख्यालय आये दिन बंद रहने से दूर-दराज से काम करवाने के लिए आ रहे ग्रामीणों को बिना काम कराये ही वापस लौटना पड़ रहा है। जिस कारण उन्हें विभाग की ओर से चलाई जा रही योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। जनप्रतिनिधियों एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने इसकी शिकायत जिला कार्यक्रम अधिकारी से की। शिकायत का संज्ञान लेकर जिला कार्यक्रम अधिकारी पौड़ी गढ़वाल जितेन्द्र कुमार ने प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी रिखणीखाल को नोटिस भेजकर तीन के अंदर स्पष्टीकरण देने को कहा है।
मेन रोड पर स्थित होने के बावजूद कर्मचारियों की गैर मौजूदगी से लोगों का मुंह चिढ़ा रही है। जिस कारण लोगों को किसी भी लाभ से वंचित होना पड़ रहा है। गौरा देवी कन्या धन योजना हो या विभाग से मिलने वाली किसी प्रकार की लाभकारी योजनाओं को लोगों से दूर रखा जा रहा है। यहां तक कि प्रखंड के आंगनबाड़ी केंद्रों का भ्रमण भी नहीं किया जाता। महीनों तक कार्यालय कर्मियों की बदौलत कागजात कार्यालय के नीचे स्थित दुकान में पड़े रहने के बावजूद योजनावधि के समाप्त होने पर लाभ से वंचित लोगों की परेशानी की नियति बन गयी है। इस पर लोगों द्वारा सामाजिक कार्यकर्ता दीनबंधु बलोदी, ज्येष्ठ प्रमुख चंद्रभूषण नौगाईं व प्रधान बयेला मल्ला प्रमोद रावत को समस्या बताई। उन्होंने जिला कार्यक्रम अधिकारी पौड़ी से फोन पर वार्ता की। जिसके बावजूद स्पष्टीकरण मांगा गया है। प्रत्यक्षदर्शी बयेला तल्ला सतेश्वरी देवी, क्षेत्र पंचायत कर्तिया विनीता ध्यानी, विकास सिंह का कहना है कि कई बार दूर दराज क्षेत्रों से चक्कर मारने पर लोगों को यहां से बिना काम या जानकारी के वापस लौटना पड़ता है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही ऐसे गैर जिम्मेदार कर्मियों को स्थानांतरित कर दिया जाय। गौरतलब है कि प्रखंड की बाल विकास परियोजना पूर्व से ही विवादित रही है और टीएचआर, केंद्रों की मनमानी व कार्यालय की लापरवाही के कारण लोगों का बेरुख होना मजबूरी बन गई है। जहां चार कर्मचारी है। इनमें से एक सुपरवाइजर, एक लिपिक, एक चतुर्थ श्रेणी तथा एक अन्य है। इनमें से एक जिला मुख्यालय पौड़ी में अटैच है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी ने भेजा नोटिस
जिला कार्यक्रम अधिकारी पौड़ी गढ़वाल जितेन्द्र कुमार ने प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी रिखणीखाल को भेजे पत्र में कहा कि प्रमोद कुमार ग्राम प्रधान बयेला मल्ला रिखणीखाल ब्लॉक द्वारा व्हाटस अप के माध्यम से आपके कार्यालय की फोटो भेजते हुए बताया गया कि कार्यालय 10 नवम्बर को बंद है तथा प्राय: कार्यालय इस प्रकार से बंद रहता है। इससे पूर्व भी इस प्रकार की शिकायतें प्राप्त हो रही है। कार्यालय बंद होना प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी के अपने दायित्वों के प्रति घोर लापरवाही का घोतक है। यह दर्शाता है कि प्रभारी सहित कार्यालय का अन्य स्टाफ मुख्यालय में उपस्थित नहीं है। जिससे विभागीय छवि भूमिल हो रही है। जिला कार्यक्रम अधिकारी ने रिखणीखाल कार्यालय के सभी कर्मचारियों का नवम्बर माह का वेतन रोकते हुए निर्देशित किया है कि उपरोक्त विषय में प्रभाी एवं अन्य स्टॉफ का स्पष्टीकरण पत्र जारी होने के तीन दिन के भीतर अधोहस्ताक्षरी को प्राप्त करवाने के साथ ही प्रतिदिन कार्यालय उपस्थित पंजिका एवं कार्यालय उपस्थित रहने सम्बन्धी फोटोग्राफ अधोहस्ताक्षरी को व्यक्तिगत व्हाटस अप कराना सुनिश्चत करें। अन्यथा की स्थिति में प्रभारी बाल विकास परियोजना अधिकारी रिखणीखाल के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की संस्तुति उच्चाधिकारियों को कर दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!