समस्याआें को लेकर सीएम से मिला दून वेली महानगर उद्योग व्यापार मंडल का प्रतिनिधिमंडल

Spread the love

देहरादून। दून वेली महानगर उद्योग व्यापार मंडल का एक प्रतिनिधिमंडल अध्यक्ष पंकज मैसोन के नेतृत्व में एव मुख्य संरक्षक पृथ्वी राज चौहान के साथ व्यापारियों की समस्याओं को लेकर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मिला। कोरोना काल के चलते जिस प्रकार से व्यापारी पिछले 8 महीने से प्रभावित चल रहे हैं और उसके पश्चात भी समय-समय पर जो भी व्यापारी वर्ग से बन पा रहा है वो अपनी तरफ से आर्थिक सहायता आम जनता एवं प्रशासन की मदद कर रहे हैं। व्य्यापार मंडल द्वारा ये मांग की गई कि त्योहारों का सीजन 17 अक्टूबर से शुरू हो रहा हैं जिसमें नवरात्र से लेकर दशहरा, दीपवाली और भी कई अन्य छोटे त्योहार पूरे महीने में आने हैं इनको देखते हुए 18 अक्टूबर वाले रविवार से लेकर 15 नवंबर वाले रविवार तक बाजार खुलवाएं, ताकि इन त्योहारों के समय व्यापारी वर्ग अपना व्यवसाय और अच्छे से कर सकें। व्यापारी पिछले 8 महीने से आर्थिक संकट से जूझ रहा है, वह अपनी आर्थिक स्थिति में कुछ सुधार ला सके एवम् 15 नवम्बर के बाद जो साप्ताहिक बंदी का दिन हैं उसे रविवार की जगह बुधवार कर दिया जाए, ताकि कर्मचारी वर्ग भी अपने लिए बजारों से सामान खरीद सकें। अतिक्रमण हटाने की बात जो प्रसाशन द्वारा की जा रही हैं उसे भी दीपवाली तक स्थगित किया जाए, क्योंकि पहले ही स्मार्ट सिटी का कार्य होने के कारण सड़को पर जगह जगह गड्ढे बने हुए हैं और जिसमें पहले ही बाजार में व्यापारियों को और ग्राहकों को कठिनाइयोंं का सामना करना पड़ रहा है। यदि अतिक्रमण की कार्यवाही चली तो व्यापारी और ज्यादा आर्थिक नुकसान में आ जायेंगे और उनका ये त्योहारी सीजन भी पिट जायेगा। जब कि बाजारो से अतिक्रमण 2005 में पहले ही साफ हो चुका है। बाजार में कहीं भी अतिक्रमण की कोई समस्या नहीं रह गयी हैं। लोकल बस स्टैंड एवं इंदिरा मार्किट में जो एम.डी.डी.ए द्वारा काम्प्लेक्स बनाने का काम शुरू होना है उसमें 300 से 400 दुकानदार प्रभावित होंगे। व्यापारी उस काम्प्लेक्स बनाने के पक्ष में हैं लेकिन उनके मन में यह भी हैं कि जो समय काम्प्लेक्स को तैयार करने का कांट्रेक्टर द्वारा दिया जा रहा हैं उस समय मे काम पूरा हो सकेगा और जो स्थायी दुकानें शिफ्ट करने की बात कही जा रही हैं वहां पर काम करने के लिए दुकान का साइज ही पर्याप्त नहीं है, किसी भी तरह की पार्किंग की भी सुविधा नहीं है। वहां का व्यापारी चाहता है कि जो रोडवेज बस स्टैंड की जगह खाली पड़ी हैं जब तक काम्प्लेक्स तैयार नहीं होता तब तक के लिए वहां स्थायी दुकानें बनाकर शिफ्ट कर दिया जाए। ऐसा करने से काम्प्लेक्स का काम भी हो जायेगा पार्किंग कि और रोजगार की समस्या से भी निदान मिलेगा। जीएसटी को लेकर भी व्यापारी वर्ग परेशानी से घिरा हुआ है जिसमें बाहर से नो 1 में भी सामना लाने पर भी उसे अधिकारियों द्वारा उत्पीड़ित किया जा रहा है। इस अवसर पर व्यापार मंडल से महासचिव पंकज डिडान, उपाध्यक्ष हरीश विरमानी, सह सचिव अनिल आनंद, लोकल बस स्टैंड से संयोजक अनिल श्रीवास्तव मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!