सरकार की शुद्धि-बुद्धि को कर्मचारियों ने रखा उपवास

Spread the love

बागेश्वर। उत्तराखंड जनरल-ओबीसी इंप्लाइज एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष की जांच करने के आदेश से कर्मचारियों में गुस्सा है। उन्होंने सरकार की शुद्धि-बुद्धि को उपवास रखा। सरकार पर अध्यक्ष दीपक जोशी के मामले में साजिश रचने का आरोप लगाया। लोनिवि के जनरल-ओबीसी कर्मचारियों ने अपने-अपने कार्यालयों में उपवास रखा। उन्होंने कहा कि प्रदेश अध्यक्ष पर एक सामान्य कर्मचारी के रूप में सरकार पर टिप्पणी करने का आरोप लगाकर जांच के आदेश जारी किए गए हैं। उन्होंने राज्य कर्मचारियों के संबंध में पिछले कुछ महीनों से सरकार के विपरीत निर्णयों का विरोध किया था। इसमें महंगाई भत्ता रोकने, बिना कार्मिकों की सहमति के प्रतिमाह वेतन कटौती करने का विरोध शामिल है। उन्होंने कहा कि संगठन के हित के लिए प्रदेश अध्यक्ष के रूप में सरकार के कार्यों पर टिप्पणी या सुझाव देना उनकी जिम्मेदारी है। जिसे वह मर्यादा में रहकर निभा रहे हैं। ऐसे में उनके खिलाफ जबरन सरकार के विरुद्ध टीका-टिप्पणी करने और अनुभाग अधिकारी के रूप में आरोप पत्र देकर चिह्नित करना किसी साजिश का हिस्सा लगता है। केसी मिश्रा, अनिल जोशी सहित तमाम कर्मचारियों ने उपवास रखकर कार्यालय का कार्य संपन्न किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!