टीएमसी के आरोप पर चुनाव आयोग का जवाब- कानून-व्यवस्था हमारे कब्जे में नहीं

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कथित हमले को लेकर उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर भी सवाल उठाए हैं। शुक्रवार को एक प्रतिनिधिमंडल केंद्रीय आयोग से मिलने की भी तैयारी में है। उससे पहले चुनाव आयोग की तरफ से टीएमसी के आरोपों पर जवाब आया है। ईसी का कहना है कि यह पूरी तरह से गलत आरोप है कि आयोग ने चुनाव कराने के लिए पूरी कानून-व्यवस्था को अपने कब्जे में कर लिया है।
चुनाव आयोग का कहना है कि यह वास्तव में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। इस मामले में तुरंत पूछताछ करने की आवश्यकता है। आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने नंदीग्राम घटना पर टीएमसी के पत्र का जवाब दिया है।
ममता बनर्जी पर नंदीग्राम में कथित तौर पर हुए हमले से जुड़ी चिंताओं को लेकर शुक्रवार को पार्टी का एक संसदीय प्रतिनिधिमंडल दिल्ली में चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात करेगा। पार्टी से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि संसद के दोनों सदनों के तृणमूल कांग्रेस के छह सांसदों के इस प्रतिनिधिमंडल में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंचने की संभावना है।
तृणमूल के एक प्रतिनिधिमंडल ने बृहस्पतिवार को कोलकाता में चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात की और निर्वाचन आयोग पर भाजपा नेताओं के आदेशानुसार काम करने का आरोप लगाया और कहा कि ममता बनर्जी पर हमले की आशंका की रिपोर्ट के बावजूद निर्वाचन आयोग ने कुछ नहीं किया।
तृणमूल नेताओं ने दावा किया कि यह हमला तृणमूल सुप्रीमो की जान लेने का गहरा षड्यंत्र था और भाजपा ने पड़ोसी राज्यों से असामाजिक तत्वों को हिंसा करने के लिए नंदीग्राम भेजा था। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनर्जी ने बुधवार को आरोप लगाया कि नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान चार-पांच लोगों ने उन्हें धक्का दिया, जिसके कारण वह जमीन पर गिर गईं और उन्हें चोट लगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!