उत्तराखंड में विदेशी पटाखों की बिक्री प्रतिबंधित करेगी सरकार

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

देहरादून। केंद्र सरकार के फैसले के आलोक में उत्तराखंड में भी विदेशी पटाखों व आतिशबाजी की बिक्री को राज्य सरकार प्रतिबंधित करने जा रही है। सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के अनुसार जल्द ही इस सिलसिले में आदेश जारी किए जाएंगे।
देश में विदेशी पटाखों और आतिशबाजी की बिक्री और संग्रह पर प्रतिबंध है, लेकिन जनसामान्य को इसकी जानकारी बहुत अधिक नहीं है। इसके अभाव में दीपावली के अवसर पर जाने-अनजाने व्यक्ति ऐसे पटाखे खरीद लेते हैं। इस लिहाज से देखें तो उत्तराखंड में भी दीपावली के मौके पर चीन निर्मित पटाखे और आतिशबाजी समेत अन्य सामग्री यहां पहुंचती रही है। ये आतिशबाजी अत्यधिक प्रदूषण फैलाने वाली होती है। साथ ही इनसे खतरा भी अधिक होता है।
इस सबको देखते हुए देश के अन्य राज्यों की भांति प्रदेश सरकार भी उत्तराखंड में विदेशी पटाखों व आतिशबाजी की बिक्री पर रोक लगाएगी। सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक के अनुसार इस संबंध में जल्द आदेश जारी करने के साथ ही जनसामान्य के लिए गाइडलाइन भी जारी की जाएगी। आमजन से विदेशी पटाखे व आतिशबाजी न खरीदने और यदि कहीं इनकी बिक्री हो रही तो इसकी सूचना पुलिस-प्रशासन को देने की अपील की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसी जानकारियां सामने आने पर सख्ती से कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। साथ ही विदेशी पटाखों व आतिशबाजी की बिक्री पर प्रतिबंध के मद्देनजर निगरानी सिस्टम को सशक्त किया जाएगा।
सरकार के इस फैसले के धरातल पर उतरने से उत्तराखंड में पर्यावरण संरक्षण में भी मदद मिलेगी। असल में हर साल ही दीपावली के मौके पर बेतहाशा पटाखे जलाए जाने से पर्यावरण को भारी नुकसान पहुंचता है। शहरों व गांवों की फिजां में धुएं की धुंध परेशानी का सबब बनती है तो पटाखों के कानफोड़ू शोर से ध्वनि प्रदूषण में भी इजाफा होता है। वायु और ध्वनि प्रदूषण पर अंकुश लगाने की दिशा में सरकार का फैसला कारगर साबित हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!