भारत-नेपाल संबंधों में तनाव: 17 अगस्त को उच्चस्तरीय बैठक

Spread the love
नई दिल्ली, एजेन्सी। भारत और नेपाल के बीच 17 अगस्त को बातचीत होने वाली है। सूत्रों के मुताबिक ये एक पहले से तय प्रक्रिया के तहत बैठक है जो वक्त-वक्त पर होती रहती है। ये बैठक नेपाल में भारत के राजदूत विनय मोहव क्वात्रा और नेपाल के विदेश सचिव शंकर दास बैरागी के बीच होगी. हालांकि लिपुलेख-कालापानी में सड़क उद्घाटन के बाद भारत नेपाल के रिश्तों में आई तल्खी के बाद दोनों देशों के बीच ये पहली बैठक है लेकिन सूत्रों के मुताबिक 2016 से इस तरह की बैठकें हो रही हैं और इनमें दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय आर्थिक और डेवलपमेंट प्रोजेक्ट पर बात होती है।
हालांकि ये बैठक काठमांडू में मार्च में हुए भारत-नेपाल संयुक्त प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग समिति की बैठक के बाद हो रही है, लेकिन ये साफ है कि दोनों देशों के बीच लिपुलेख-कालापानी सड़क, नेपाल के नए विवादास्पद मानचित्र, भगवान राम के जन्मस्थान को लेकर पीएम ओली के बयानों से हुए तमाम तनाव के बीच ये पहली उच्चस्तरीय बैठक है। दोनों देशों के बीच तनाव कम करने में ये बैठक कारगर हो सकती है। हालांकि भारत ने विवादास्पद मानचित्र पर साफ कहा था कि कृत्रिम तरीके से बढ़ाए गए नेपाल के इलाके को वो स्वीकार नहीं करता और नेपाल को सीमा विवाद पर बातचीत के लिए एक सकरात्मक माहौल बनाना चाहिए। भारत लगातार ये कहता रहा है कि सीमा विवाद पर बातचीत कोविड-19 महामारी से निपटने के बाद ही हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!