भारत विकास परिषद की वीरांगना शाखा ने दो बालिकों को लिया गोद

Spread the love

उत्तरकाशी। भारत विकास परिषद, महिला एवं बाल विकास की ओर से बालिकाओं के संरक्षण, पोषण, शिक्षा और स्वास्थ्य की दृष्टि से बालिका सप्ताह में तहत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिसमें बालिकाओं का हिमोग्लोवीन का परीक्षण किए जाने के साथ ही बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर नृत्यनाटिका प्रस्तुत कर लोगों को जागरूक किया गया। वहीं वीरांगना शाखा की ओर से कार्यक्रम के दौरान दो बालिकों की शिक्षा एवं अन्य सहायता के साथ आत्मनिर्भर बनाने के लिए गोद लिया गया। भारत विकास परिषद की वीरांगना शाखा उत्तरकाशी की ओर से 17 से 21 जनवरी तक आयोजित होने वाले के पहले दिन बालिकाओं का वजन एवं हिमोग्लोवीन परीक्षण दूसरे दिन पोष्ण की दृष्टि से 20 बालिकाओं को लोहे की कढ़ाई, गुड़ व चना वितरित किया गया। वहीं अगले दिन नगर मुख्यालय से पांच किमी. दूर गंगोरी में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर नृत्य नाटिका की प्रस्तुती दी गई। इसके साथ ही 20 जनवरी को ग्राम पंचायत लाटा में 30 बच्चों को कम्बल, स्वेटर, सहित पाठ्य सामाग्री किताब आदि वितरित किए गए। वहीं कार्यक्रम के समापन पर गुरुवार को चिन्यालीसौड़ ब्लॉक के श्रीकोट गांव में बालिकाओं के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ विभिन्न क्रीड़ा प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। इस मौके पर प्रतिभागी छात्र-छात्रओं को वीरांगना शाखा की ओर से पुरस्कृत किया गया। वीरांगना शाखा की संरक्षक सुधा गुप्ता ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान ग्राम लाटा की दो बालिकायें संध्या नेगी व श्रीकोट की अनुपमा को शिक्षा एवं अन्य सहायता हेतु शाखा की ओर से गोद लिया गया है। वहीं अध्यक्ष डा. राखी पंचोला ने बताया कि वीरांगना शाखा की ओर से निरंतर सामाजिक कार्य किए जा रहे हैं।
इस मौके पर रमा डोभाल, संगीता भंडारी, रजीन चौहान, भारती उप्पल, रमा सोनी, अंजू सेवाल, प्रवीण राणा,प्रियंका राणा, प्रियंका उप्पल, प्रीति रेखी, प्रज्ञा जोशी, आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!