बीमारी को जीत स्वस्थ हुए सांसद बलूनी ने कुलदेवता की पूजा कर सक्रिय होने की घोषणा की

Spread the love

गांव पहुंचकर भावुक हुए राज्यसभा सांसद बलूनी
जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख व राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी पहली बार अपने पैतृक गांव पहुंच भावुक हो गए। उन्होंने परिजनो व ग्रामीणों से आत्मीयता को याद कर कहा कि बीमारी से जूझते हुए मैंने कुलदेवी व ईष्ट देव की पूजा कर राजनीतिक गतिविधियां शुरु किए जाने का संकल्प लिया था। जिसे में आज से शुरु कर रहा हूं। राज्यसभा सांसद बलूनी ने पैतृक गांव में अपने घर से मेरा बूथ सबसे मजबूत अभियान की शुरुआत की।
मंगलवार को राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी दोपहर एक बजे विकासखंड कोट स्थित अपने पैतृक गांव नकोट पहुंचे। यहां उन्होंने कुल देवी माता चंद्रबदनी और क्षेत्रपाल देवता डांडा नागराजा की पूजा अर्चना की। राज्यसभा सांसद बलूनी ने अपने घर के दरवाजे पर स्टीकर चिपका कर मेरा बूथ सबसे मजबूत अभियान का विधिवत शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि पिछले डेढ़ वर्ष वह बीमारी से जूझते रहे लेकिन, कभी भी अपने गांव, अपनी संस्कृति और उत्तराखंड से उनका लगाव कम नहीं हुआ। बीमारी के दौरान भी मेरा उत्तराखंड से संपर्क निरंतर बना रहा। उन्होंने कहा कि मेरा पूरा जीवन उत्तराखंड के लिए समर्पित है। उत्तराखंड के विकास को लेकर मेरी जो भी हिस्सेदारी निर्धारित है, उसे मैं पूरा करूंगा। राज्यसभाा सांसद ने बताया कि बीमारी को पराजित करने में जनता की दुआएं सफल रही हैं। मेरी कुलदेवी मां चंद्रबदनी और क्षेत्रपाल देवता डांडा नागराजा का आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ रहा। जिसका परिणाम है कि मुझे नया जीवन मिला है। परिजनों व ग्रामीणों के बीच भावुक हुए सांसद बलूनी ने बताया कि बीमारी से जूझते हुए मैंने पैतृक गांव पहुंच कुलदेवी व ईष्ट देव की पूजा कर राजनीतिक गतिविधियां शुरु किए जाने का संकल्प लिया था। आज डेढ़ वर्ष बाद अपनी राजनीतिक गतिविधियां संकल्प को पूरा कर शुरू कर दी है। इस दौरान विधायक पौड़ी मुकेश कोली ने सांसद बलूनी से गेंडीछेड़ा झरने के समीप झील निर्माण व श्रीनगर गंगादर्शन से पौड़ी को जोड़ने के लिए रोपवे निर्माण की मांग की। ग्रामीणों ने बजुण-गड़थ और उमरासू से डांडानागराजा मोटर मार्ग के पक्कीकरण की मांग की। इस दौरान उनके साथ उनकी पत्नी दीप्ति बलूनी, पुत्र अक्षत व बेटी सौम्या भी साथ रहे। इस अवसर पर राज्यमंत्री राजेन्द्र अणथ्वाल, ब्लॉक प्रमुख कोट पूर्णिमा नेगी, प्रदेश प्रवक्ता विपिन कैंथोला, क्षेत्र पंचायत सदस्य निर्मला बलूनी, अनिल गुसाईं, संजय बलूनी, गौरव कैंथोला आदि मौजूद रहे। (फोटो संलग्न है) कैप्शन03:

चाची से लिया आशीर्वाद
पौड़ी। सांसद बलूनी ने गांव में रहने वाली चाची सुलोचना देवी से आर्शीवाद लिया। चाची ने उन्हें गले लगाया। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी वे गांव आते-जाते रहे, ग्रामीणों की समस्याओं का भी प्राथमिकता के साथ समाधान करें। इस दौरान दोनों बहुत भावुक नजर आए।

ईगास पर्व मनाए जाने की मुहीम की थी शुरु
पौड़ी। राज्यभा सांसद बलूनी ने वर्ष 2018 में प्रवासियों से पैतृक गांव पहुंच ईगास पर्व मनाए जाने की अपील की थी। कहा था कि वह अगले वर्ष ईगास पर्व अपने पैतृक गांव में मनाएंगे। लेकिन इससे पहले वह बीमार पड़ गए। उनकी मुहिम को आगे बढ़ाने के लिए वर्ष 2019 में भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संदीप पात्रा व विधानसभा अध्यक्ष उत्तराखंड प्रेम चंद्र अग्रवाल उनके गांव नकोट पहुंचे थे। 2020 में पौड़ी विधायक मुकेश कोली ईगास पर्व पर नकोट गांव गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!