कार चोरी करने आये आरोपी पुलिस बैरियर तोड़कर भागे

Spread the love

-कार को छोड़कर भागते हुए एक गिरफ्तार, दूसरे आरोपी की तलाश जारी
विकासनगर। विकासनगर पुलिस ने बताया कि सोमवार रात को दो लोग कार चोरी करने पहुंचे। आरोपी कैनाल रोड पर कार चोरी का प्रयास कर रहे थे। तभी मौके पर पुलिस के पहुंचते ही आरोपी अपनी कार से फरार हो गये। पुलिस ने पीछा किया तो आरोपी पुलिस का बैरियर तोड़कर फरार हो गये। काफी दूर तक पीछा करने के बाद आरोपी कार को जीवनगढ़ नहर के पास छोड़कर भागने लगे। तभी पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ लिया। जबकि दूसरा आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा। सोमवार रात को विकासनगर बाजार चौकी प्रभारी अर्जुन सिंह गुसाईं के नेतृत्व में पुलिस कर्मी गश्त कर रहे थे। तभी कैनाल रोड के गुरुनानक स्कूल के समीप सड़क किनारे पुलिस को एक हिमाचल प्रदेश नंबर की एक कार दिखाई दी। कार के पास ही एक दूसरी कार का दो लोग लॉक तोड़ने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन पुलिस को देखकर वे अपनी कार में बैठकर भाग निकले। पुलिस ने चीता पुलिस और सभी बैरियरों पर सूचना दी। जिस पर चीता पुलिस ने गुरुद्वारा अजीतनगर के पास बैरियर लगा दिया। लेकिन आरोपी बैरियर तोड़कर फरार हो गये। पुलिस ने एक आरोपी को दबोच लिया। पकड़े गए आरोपी ने पुलिस को अपना नाम राजेश पुत्र ऋषिपाल निवासी ग्राम क्वाल थाना जानसठ जनपद मुजफ्फरनगर यूपी बताया। फरार आरोपी का नाम अमित पुत्र प्रेम सिंह निवासी ग्राम शंठा चौपाल जनपद शिमला हिमाचल प्रदेश बताया। आरोपी के पास से पुलिस ने कार चोरी में प्रयुक्त होने वाली दो मास्टर की, कार की दो नंबर प्लेट पकड़ी। आरोपी ने बताया कि कार चोरी करने के लिए वह अमित की कार में आये थे। चोरी के प्रयास में प्रयुक्त कार के दस्तावेज न होने पर कोतवाली पुलिस ने कार को एमवी ऐक्ट में सीज कर दिया। कोतवाल राजीव रौथाण ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी व फरार आरोपी के खिलाफ चोरी के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर दिया है। फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। गिरफ्तार आरोपी को जेल भेज दिया है।
चोरी की कार पर नंबर प्लेट बदल देते थे- गिरफ्तार आरोपी राजेश ने बताया कि कार में जो दो नंबर प्लेट रखी थी। उन्हे चोरी की कार पर लगाकर रास्ते में पड़ने वाले बैरियर से बचने के लिए लगाया जाता है। जिससे आसानी से पकड़ में नहीं आते। बताया कि दो मास्टर की रखी हैं। जिससे दूसरी कारों के लॉक खोले जा सकते हैं। यदि लॉक न खुले तो तब आरी व टूलबॉक्स में रखे सामान से कार का लॉक तोड़कर कार चोरी करके ले जाते हैं। जिनके कल पुर्जें आदि बलकर दूसरे प्रदेशों में बेचते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!