धूमधाम से मनाई स्वामी विवेकानंद के अल्मोड़ा आगमन की 125वीं वर्षगांठ

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

अल्मोड़ा। स्वामी विवेकानंद के अल्मोड़ा आगमन की 125वीं वर्षगांठ धूमधाम से मनाई गई। इस दौरान पल्टन बाजार से रघुनाथ मंदिर खजांची मोहल्ले तक के मार्ग का अनावरण किया गया। अब यह मार्ग स्वामी विवेकानंद के नाम से जाना जाएगा। शुक्रवार को कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि उपाध्यक्ष रामष्ण मठ एवं रामष्ण मिशन, बेलूर मठ स्वामी सुहितानन्द महाराज ने मार्ग के शिलापट का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा की विश्व भर में स्वामी विवेकानंद के नाम पर कोई न कोई मार्ग जरूर है, लेकिन अल्मोड़ा के विवेकानंद मार्ग में स्वामी विवेकानंद के प्रति विशेष श्रद्घा दिखती है। वहीं पालिकाध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने कहा कि सांस्तिक नगरी अल्मोड़ा के प्रति राजनीति से लेकर धार्मिक व दार्शनिक क्षेत्र के महान लोगों का विशेष लगाव रहा है, विश्वभर में ख्याति प्राप्त संत विवेकानंद भी इसमें शुमार रहे है। जीवन काल में स्वामी तीन बार अल्मोड़ा आये। उन्होंने कहा कि स्वामी जी ने 11 मई, 1897 को जिस रास्ते से शहर में प्रवेश किया था, उस मार्ग का नाम आज विवेकानन्द मार्ग के रूप में घोषित किया जा रहा है। कार्यक्रम का संचालन ड़ दिवा भटट ने किया।
छोलिया नृत्य की शानदार प्रस्तुति रहीरू शिलापट के लोकार्पण मौके पर छोलिया नृतकों ने शानदार प्रस्तुति दी। स्थानीय निवासियों ने रैली में अक्षत पुष्प अर्पित किए। वहीं रघुनाथ मंदिर प्रांगण में एक चिंतन कार्यक्रम आयोजित किया गया प्
ये रहे मौजूदरू पालिध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, स्वामी सुप्रकाशानंद, स्वामी शांतात्मानन्द, स्वामी महाकालानंद, स्वामी चन्द्रकांता नंद, स्वामी सेवात्मानंद, स्वामी स्वस्वरूपानंद, स्वामी पुण्यदानंद, स्वामी जिष्णुदेवानन्द, सुशील साह, मनोज सनवाल, विनीत बिष्ट, एसडीएम गोपाल सिंह चौहान, ईओ महेंद्र कुमार यादव आदि मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!