दिल्ली से घर आए युवक ने शुरू किया बारबर का काम

Spread the love

बागेश्वर। दिल्ली से घर आए एक युवक ने बारबर की दुकान खोल ली है। इतना ही नहीं एक अन्य युवक को भी रोजगार दिलाया है। रोजगार को भी स्थानीय लोग पूरा सहयोग कर रहे हैं। युवक एक दिन में चार सौ से एक हजार तक कमा रहा है। अब उनसे घर में रहकर ही आजीविका चलाने का निर्णय लिया है।
मालूम हो कि कोरोना संक्रमण के चलते कई प्रवासी लॉकडाउन से पहले तो कई बाद में गांवों को आ गए थे। इनमें से कांडे कन्याल निवासी पवन भी शामिल है। वह लॉकडाउन से कुछ ही दिन पूर्व घर पहुंचा था। 20 मार्च को उसे जाना था, लेकिन वह किसी कारण से नहीं जा पाया। 22 मार्च से लॉकडान लग गया। तीन महीने गांव में रहने के बाद पवन ने भी घर में रहने का मन बना लिया। इस दौरान उसने गांव में लोगों के मुफ्त में बाल काटने शुरू कर दिए। इस काम में उनके साथ सिलंगदेव के हरीश ने भी साथ दिया। उनके काम को सराहना मिलने लगी तो दोनों ने मिलकर अब कांडा पड़ाव में बारबर की दुकान खोल दी है। गत दिनों व्यापार मंडल अध्यक्ष दीप वर्मा ने उनके टेलेंट को आगे बढ़ाने के लिए सहयोग किया। उन्होंने कांडा पड़ाव में युवाओं को दुकान खोलकर दे दी है। पवन ने बताया कि वह लंबे समय से दिल्ली में रहा, कोरोना से पहले ही वह गांव आ गया था। अब यही रहकर काम करेंगे। एक मई से दुकान खोली है। अब रोजाना चार सौ से एक हजार तक की बिक्री हो रही है। दोनों ने यहीं रहकर काम करने का मन बना लिया है। इस दौरान सोशल डिस्टेंस, मास्क और सेनेटाइजर का उपयोग हो रहा है। व्यापारियों ने भी स्थानीय युवाओं के प्रयास की सराहना की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!