डीएम की अध्यक्षता में जिला कौशल समिति की बैठक संपन्न , स्वरोजगार पर दिया जोर

Spread the love

टिहरी। डीएम मंगेश घिल्डियाल की अध्यक्षता में जिला कार्यालय सभागार में जिला कौशल समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में समिति ने जनपद कौशल अंतर (डिस्ट्रिक्ट स्किल गेप) को चिन्हित कर जिला कौशल विकास योजना तैयार करने की रणनीती पर गहन विचार-विमर्श किया। समिति में सीडीओ को उपाध्यक्ष एवं जिला सेवायोजन अधिकारी को सदस्य सचिव के रूप में नामित किया गया। डीएम ने जिला सेवायोजन अधिकारी विक्रम को जनपद में विभाग की क्रियान्वित की जाने वाली विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत संचालित प्रशिक्षण केंद्रों का नियमित निरीक्षण, विभिन्न विभागों की संचालित कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों का अनुश्रवण कर सूचना संकलित करने, नेशनल अप्रेंटिसशिप प्रमोशन स्कीम (एनऐपीएस) के प्रचार-प्रसार को जनपद स्तर पर गठित उद्योग संघों के साथ बैठक, सेमिनार व कार्यशालाओं का आयोजन करने को कहा। जनपद में स्थापित निजी उद्यमों सार्वजनिक उपक्रमों में भारत सरकार के अप्रेंटिसशिप को निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कार्य योजना तैयार करने के साथ ही लक्ष्य को पूरा करने के लिए मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिये। जिले में आजीविका संवर्धन के लिए कार्य योजना तैयार कर प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने, जिले में स्थापित औद्योगिक इकाइयों की वर्तमान तथा भविष्यात्मक मांग का आकलन कर कौशल प्रशिक्षण को प्रशिक्षण क्षेत्र चिन्हित करने, स्वरोजगार के क्षेत्र में जिले की संभावनाओं का आंकलन कर ऐसे व्यवसायियों की पहचान करने के निर्देश दिये हैं, जिनमें स्वरोजगार की संभावनाएं सर्वाधिक हों। सेवायोजन अधिकारी को जनपद के अंतर्गत संचालित आईटीआई, पॉलिटेक्निक व लघु अवधि के प्रशिक्षण केंद्रों में जनपद की विशेष आवश्यकता अनुसार व्यवसाय ट्रेड संचालित किए जाने के संबंध मे आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। जनपद में पूर्ण रूप से दक्ष कामगार जिन्होंने औपचारिक प्रशिक्षण प्राप्त नहीं किया हो, को चिन्हित कर उन्हें आरपीएल योजना के माध्यम से प्रमाणित कराने, जिले में संचालित कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों के प्रशिक्षकों का प्रशिक्षण कराने में सहयोग को जनपद में रहने वाले पूर्व सैनिक जो तकनीकी योग्यता एवं अनुभव रखते है, का विशेष रूप से चिन्हित कर उनकी सूची तैयार करने करने के भी निर्देश दिये। जनपद में रोजगार मेलों के आयोजन में सहयोग एवं विभिन्न पोर्टलों में नेशनल केरियर सर्विस, एनएपीएस, एचओपीई (हॉप) का व्यापक स्तर पर प्रचार करने को कहा। डीएम ने एकीकृत कृषि, पारंपरिक कलाओं, आईआईटी, एनआईआईटी, एनडीए, पीसीएस, वन डे एग्जाम जैसी तैयारियों के कोर्स करवाने के लिए सम्बंधित शिक्षण संस्थाओं से समन्वय स्थापित करने को कहा। बैठक में सीडीओ अभिषेक रुहेला, सीईओ एसपी सेमवाल, जीएम डीआईसी महेश प्रकाश, डीआईओ एनआईसी सौरभ रतूड़ी आदि शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!