ईएसआई अस्पताल में अव्यवस्थाओं से गुस्साए भगत

Spread the love

रुद्रपुर। 100 करोड़ की लागत से निर्मित ईएसआई अस्पताल में मूलभूत सुविधाएं नहीं मिलने की शिकायतों के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष समेत विधायकों और प्रांतीय नेताओं ने अस्पताल पहुंचकर निरीक्षण किया। यहां महज दवाखाना चलने और अस्पताल में मूलभूत सुविधाएं नहीं होने पर भाजपाई बिफर पड़े और चिकित्सा अधीक्षक से कई सवाल किए। उनका आरोप था कि डेढ़ साल से अधिक समय बीत जाने के बाद भी 70 फीसदी मजदूर मरीजों को निजी अस्पताल रेफर किया जा रहा है। जिसकी वजह से करोड़ों की लागत से बने अस्पताल का गरीबों को कोई फायदा नहीं मिल रहा है। इस दौरान इन मुद्दों को लेकर चिकित्सा अधीक्षक और विधायकों व प्रांतीय नेताओं में नोकझोंक भी हुई। बाद में प्रदेश अध्यक्ष उच्चस्तरीय जांच करवाने की बात कहकर चले गए। शनिवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और कालाढूंगी से विधायक बंशीधर भगत] विधायक राजकुमार ठुकराल] विधायक राजेश शुक्ला] जिलाध्यक्ष शिव अरोरा] प्रांतीय महामंत्री राजेंद्र भंडारी सहित कार्यकर्ताओं के साथ ईएसआई अस्पताल पहुंचे। जहां उन्होंने निरीक्षण करने के बाद चिकित्सा अधीक्षक दीप शिखा का घेराव भी किया। इस दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने मरीजों को दी जाने सुविधाओं के बारे में जानने का प्रयास किया तो पता चला कि 100 करोड़ के अस्पताल में पैथोलॉजी लैब] दवाखाना] डाक्टरों की संख्या] स्ट्रेचर और ओपीडी तक नहीं है। पूछने पर पता चला कि बजट के अभाव में उपकरण नहीं आ पा रहे हैं। जिस पर उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि इस संबंध में न तो प्रदेश सरकार को पत्राचार किया गया और न ही किसी विधायक व पदाधिकारी को अवगत कराया गया। काफी देर तक चली बहस व नोकझोंक के बाद प्रांतीय अध्यक्ष भगत उच्चस्तरीय जांच करवाने की बात कहकर चले गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!