किशोर उपाध्याय ने किया हाइड्रो इंजीनियरिंग कालेज का मुआयना

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

नई टिहरी। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने भागीरथी पुरम में स्थापित हाइड्रो इंजीनियरिंग कालेज का मुआयना किया। कालेज की दुर्दशा और उसमें व्याप्त अव्यस्थाओं पर गहरी चिन्ता व्यक्त करते हुये प्रधानमन्त्री, केंद्रीय मानव संसाधन मन्त्री व मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कालेज को आईआईटी के रूप में अपग्रेड कर बांध प्रभावित छात्रों की प्राथमिकतायें तय करने की मांग की। उपाध्याय ने लिखे पत्र में अवगत कराया है कि टिहरी की जनता के संघर्ष और उनके अथक प्रयासों से इस कालेज की स्थापना हुई थी। इस कालेज को आईआईटी के रूप में विकसित करने का वादा भी किया गया था। यह कालेज राज्य बनने के बाद राज्य का सर्वोत्तम इंजीनियरिंग कालेज था, लेकिन सरकार की उपेक्षा के कारण अपनी गरिमा खो रहा है। पत्र में यह भी अवगत कराया है कि जब बांध के पावर हाउस के उद्घाटन की प्रक्रिया चल रही थी। उस दौरान यहां पर आईआईटी की मांग की थी, मांग न माने जाने पर विरोध की भी बात मैंने कही थी। लेकिन बाद में टिहरी के लागों के साथ छल करते हुये टीएचडीसी के सीएसआर फंड से इंजीनियरिंग कालेज की स्थापना कर दी गई। आज यह कालेज बदहाल स्थिति में है। उपाध्याय ने कालेज की दुर्दशा पर गहन नाराजगी जाहिर करते हुये कालेज की स्थिति सुधारने के लिए कालेज को आईआईटी में अपग्रेड करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!