लोगों को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करें: सीडीओ

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी। मुख्य विकास अधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री पलायन रोकथाम योजना के तहत चिन्ह्ति किये गांवों को सरकार द्वारा संचालित योजनाओं से लाभाविंत करें। उन्होंने कहा कि जिन गांवों में 15 से 20 परिवार रह रहे हैं, उन गांवों को पहले स्वरोजगार से जोड़े, जिससे इन गांवों में पलायन रूक सके। उन्होंने कहा कि लोगों को स्वरोगार अपनाने के लिये प्रेरित करें, जिससे वह अपने ही गांव में मत्स्य पालन, मुर्गी पालन, पशु पालन, बकरी पालन, कृषि, उद्यान सहित अन्य क्षेत्र में बेहतर कार्य कर अच्छी आमदनी प्राप्त कर अपनी आर्थिकी मजबूत कर सकें।
मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई ने गुरूवार को अपने कार्यालय कक्ष पौड़ी में जनपद के समस्त विकासखंड के संबंधित अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से मुख्यमंत्री पलायन रोकथाम योजना की समीक्षा बैठक की। मुख्य विकास अधिकारी ने पलायन रोकथाम योजना के तहत आजीविका के क्षेत्र में बढ़ावा देने हेतु संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा संचालित कल्याणकारी ध्वजवाहक योजनाओं को पारदर्शिता के साथ धरातल पर लाना सुनिश्चित करें। चिन्ह्ति गांव के लोगों को योजनाओं से लाभाविंत करने हेतु योजना की समुचित जानकारी देते हुए, कार्यों को संपादित कराने में सहयोग दें। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि चिन्ह्ति गांवों की कार्य योजना शीघ्र तैयार कर ग्रामीणों को योजनाओं से लाभ पहुंचाना सुनिश्चित करें। स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं एवं अन्य को सिलाई, बुनाई की ट्रेनिंग देकर योजना की जानकारी भी दे। उन्होंने कहा कि गांवों में मशरूम उत्पादन कमाई का बेहतर जरिया है, इसके लिये लोेगों को ट्रेनिंग देकर स्वरोजगार से जोड़े। उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया कि सोलर प्लांट के लिये अधिक से अधिक लोगों को जागरूक करें, जिससे वह इस योजना का लाभ उठा सके। इस अवसर पर पीडी संजीव कुमार रॉय, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, मुख्य कृषि अधिकारी डीएस राणा, मुख्य उद्यान अधिकारी डॉ. नरेंद्र कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. एसके सिंह बत्र्वाल, जिला शिक्षा अधिकारी केएस रावत अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!