मुक्तिधाम गेट पर लगा कचरे का ढेर कोटद्वार

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। गाड़ीघाट में मुक्तिधाम के गेट के पास कचरे का ढेर लगे होने से राहगीरों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। नगर निगम के कर्मचारी टेंचिंग
ग्राउण्ड के बजाय मुक्तिधाम के मुख्य गेट के पास ही कचरे का ढेर लगा रहे है। जो स्थानीय निवासियों के अलावा आवाजाही करने वाले लोगों के लिए भी परेशानी
का सबब बना हुआ है।
नगर निगम ने पूर्व में खोह नदी के किनारे टेंचिंग ग्राउण्ड बनाया था। टेंचिंग ग्राउण्ड के बनने से लोगों को उम्मीद थी कि कूड़े की समस्या से निजात मिल
जायेगी, लेकिन कूड़े की समस्या से निजात मिलने के बजाय लोगों के यह परेशानी का सबब बन गया है। नगर निगम की ओर से प्रतिदिन शहर से कूड़ा उठाकर
टेंचिंग ग्राउण्ड में डाला जाता है, लेकिन पिछले कई महीनों से नगर निगम के कर्मचारी कूड़े को मुक्तिधाम के मुख्य गेट के पास ही डाल रहे है। जिस कारण वहां पर
कूड़े का ढेर लग गया है। स्थानीय लोग नगर निगम प्रशासन व स्थानीय प्रशासन से कई बार सफाई की गुहार लगा रहे है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।
स्थानीय लोगों का कहना है कि मुक्तिधाम के आसपास कचरे का अंबार लगा है। आसपास के लोग कोरोना संक्रमण और अन्य बीमारियों को लेकर भयभीत हैं।
उन्होंने कहा कि नगर निगम की लापरवाही से क्षेत्र में स्वच्छता अभियान बेअसर दिखाई दे रहा है। हालत यह है कि कोई भी सार्वजनिक स्थान स्वच्छ नहीं बचा है।
नगर निगम कोटद्वार के सफाई निरीक्षक सुनील कुमार का कहना है कि जल्द ही मुक्तिधाम के मुख्य गेट से कूड़े को हटा दिया जायेगा। कर्मचारियों को टेंचिंग ग्राउण्ड
के अंदर ही कूड़ा डालने को कहा जायेगा।

 

बॉक्स समाचार
नगर की सफाई नहीं करा पा रहा निगम
नगर निगम कोटद्वार नगर की सफाई नहीं करा पा रही है। नगर के वार्डों से निकलने पर कचरों के ढेर जगह-जगह लगे देखे जा सकते हैं। इन कचरे के ढेरों पर
आवारा जानवर और सूअरों का जमावड़ा बना रहता है। कचरा नहीं उठने से सड़कों पर कचरा बिखरा पड़ा है। नगर की जनता कचरे की बदबू से परेशान हैं, लेकिन
नगर निगम कचरे के ढेरों को साफ नहीं करा रही है। एक ओर नगर निगम द्वारा स्वच्छता अभियान चलाकर साफ-सफाई व स्वच्छता का संदेश दिया जा रहा है।
वहीं कई वार्डों के मुख्य चौराहों एवं मुक्तिधाम के आसपास कचरे के ढेर लगे हैं।

बॉक्स समाचार
मवेशी और सूअरों का बसेरा
कचरे के ढेरों पर सूअर और आवारा मवेशियों का बसेरा रहता है। कचरा फैलने से सड़कों पर गंदगी फैल रही है। यहां नियमित कचरा नहीं उठाया जाता। जिसके
कारण कचरा दुर्गंध मारने लगता है। कई जगह कचरे के ढेर लोगों के घर के सामने या फिर आसपास लगे हुए हैं। जिससे सबसे अधिक दिक्कत इनको हो रही है।
उनके घर के गेट तक कचरा फैल रहा है। नगर निगम की सफाई व्यवस्था चरमराई हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!