पीपीपी मोड पर नहीं जाएगा देवायल और देघाट अस्पताल: विधायक

Spread the love

अल्मोड़ा। अस्पतालों को पीपीपी मोड में देने के विरोध में पिछले पांच दिनों से सल्ट तहसील मुख्यालय में धरना प्रदर्शन कर रहे संघर्ष समिति ने विधायक के आश्वासन पर 15 दिनों के लिये धरना स्थगित कर दिया है। क्षेत्रीय विधायक सुरेंद्र सिंह जीना ने मौके पर पहुंचकर समिति को अस्पतालों को पीपीपी मोड में नहीं देने का आश्वासन दे दिया है। संघर्ष समिति के सदस्यों ने 15 दिनों में देवायल अस्पताल में अल्ट्रासाउंड, एक्सरे मशीन लगाने और टेक्निशियन की तैनाती नहीं होने पर फिर से आंदोलन करने की भी चेतावनी दी है। सीएचसी देवायल और सीएचसी देघाट को पीपीपी मोड में देने के विरोध में पिछले पांच दिनों से सल्ट विकास संघर्ष समिति की ओर से तहसील मुख्यालय में धरना प्रदर्शन किया जा रहा था। शनिवार को खुमाड़ में शहीद दिवस कार्यक्रम में शामिल होने के बाद राज्य सभा सांसद प्रदीप टम्टा और क्षेत्रीय विधायक सुरेंद्र सिंह जीना आंदोलनकारियों से वार्ता को मौके पर पहुंचे। दोनों ने धरने पर बैठे आंदोलनकारियों के साथ बैठकर काफी देर तक वार्ता की। संघर्ष समिति की ओर से गोविंद बल्लभ उपाध्याय और नारायण सिंह रावत ने कई वर्षों से लंबित क्षेत्र की 15 मांगों को विधायक के सम्मुख रखा। उन्होंने सीएचसी देवायल और देघाट को पीपीपी मोड से तुरंत हटाने की मांग की। राज्यसभा सांसद प्रदीप टम्टा ने भी प्रदेश सरकार की कमियों को गिनाते हुये पहाड़ के विकास के लिए ठोस नीति अपनाने की बात कही। विधायक जीना ने आंदोलनकारियों को संबोधित करते हुये कहा कि सल्ट में स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी के लिए पीपीपी मॉडल को अपनाने की पहल की थी। सल्ट की जनता पीपीपी मोड नहीं चाहती है तो दोनों अस्पतालों को पीपीपी मो पर नहीं दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस वर्ष के अंत तक देवायल में एक्सरे मशीन नहीं आती है तो वह अपनी ओर से एक्सरे मशीन लगाएंगे साथ ही एक्सरे ऑपरेटर की व्यवस्था भी की जाएगी। उन्होंने समिति द्वारा मांग की गई अन्य चौदह समस्याओं के समाधान के लिए भी 15 दिनों का समय मांगा। उन्होंने कहा कि क्षेत्र की समस्याओं का समाधान करना उनकी प्राथमिकता है। जिसके बाद समिति के पदाधिकारियों ने आंदोलन 15 दिनों के लिये स्थगित कर दिया है। मांग नहीं मानने पर फिर से आंदोलन शुरू करने की चेतावनी दी है।
एसडीएम शिप्रा जोशी, तहसीलदार कुलदीप पांडेय, एसओ धीरेंद्र पंत एवं समिति की ओर अमित रावत, मनीष,देवेंद्र कड़ाकोटी, घनानंद, मोहित गोयल,सुनील टम्टा, हेमंत बिष्ट ,प्रेम सिंह तड़ियाल, गौरव सिंह समेत दर्जनों लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!