प्राइवेट स्कूलों की समस्याओं के समाधान की मांग

Spread the love

अल्मोड़ा। कोरोना वैश्विक महामारी के चलते निजी विद्यालयों के समक्ष आ रही समस्याओं को लेकर विभिन्न विद्यालय प्रबंधन कमेटी के सदस्यों ने डीएम के माध्यम से शिक्षा मंत्री को ज्ञापन भेजा। इसमें उन्होंने उनकी समस्याओं का समाधान किये जाने की मांग की। संचालकों ने बताया कि इस महामारी के दौर में कमजोर प्राइवेट स्कूलों के उपर गहरा संकट गहरा रहा है। साथ ही स्कूलों में कार्यरत शिक्षक-शिक्षिकाओं व अन्य स्टॉफ को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। कहा कि वर्तमान हालातों को देखते हुए शिक्षा मंत्रालय प्राइवेट विद्यालयों के संबंध में कोई भी नीति निर्धारित करने, लगातार भवनों के बढ़ते किराये के दबाव को लेकर इसके उचित निदान सुझाने, स्कूलों के बिजली, पानी, भवन कर, शिक्षकों के वेतन आदि अन्य खर्चों के बढ़ते बोझ की समस्या का त्वरित निदान करने की मांग की। अल्मोड़ा पब्लिक स्कूल एजुकेशनल एंड वेलफेयर सोसायटी ने निजी विद्यालयों को इस आर्थिक संकट से उबारने के लिए एमएसएमई की श्रेणी में लाने की मांग की, ताकि भारत सरकार की ओर से दी जा रही सुविधाओं का लाभ इन विद्यालयों को भी मिल सके। ज्ञापन सौंपने वालों में सोयायटी के अध्यक्ष प्रदीप कुमार गुरुरानी, सचिव भावना मल्होत्रा आदि संचालन समिति के सदस्य मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!