श्रम मंत्री ने किया राशन किट वितरण योजना का शुभारंभ

Spread the love

प्रदेश के 2 लाख 36 हजार श्रमिकों को मिलेगी घर पर राशन किट
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। प्रदेश के श्रम मंत्री हरक सिंह रावत ने श्रमिक राशन किट योजना का शुभारंभ किया। कोविड-19 के तहत उत्तराखण्ड भवन और अन्य सन्निर्माण कर्मकार बोर्ड की ओर से इस योजना को शुरू किया गया है। इसके तहत बोर्ड में प्रदेश के रजिस्टर्ड 2 लाख 36 हजार श्रमिकों को राशन किट दिया जायेगा। इस योजना से करीब 12 लाख की आबादी लाभान्वित होगी। मंत्री ने कोटद्वार में 21 श्रमिकों को राशन किट वितरित की। श्रम मंत्री ने कहा कि सोशल डिस्टेंस को ध्यान में रखते हुए प्रत्येक श्रमिक के घर तक यह राशन किट पहुंचाई जायेगी। उन्होंने कहा कि श्रमिकों की मदद करना सभी का कर्तव्य है। श्रम विभाग हर समय श्रमिकों के साथ खड़ा है।
बुधवार को राशन वितरण योजना का शुभारंभ प्रदेश के श्रम मंत्री डा़ॅ हरक सिंह रावत ने अपने निजी आवास में एक सादे समारोह में किया। योजना का शुभारंभ करते हुए श्रम मंत्री डॉ़ हरक सिंह रावत ने कहा कि इस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित निर्माण श्रमिक हुआ है। लॉकडाउन के कारण काम बंद होने से श्रमिकों के सामने रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया था। संकट की इस घड़ी में सरकार श्रमिकों के साथ खड़ी है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 2 लाख 36 हजार श्रमिक है। सरकार ने मार्च और अप्रैल माह में श्रमिकों के खाते में एक-एक हजार रूपये डालने का निर्णय लिया। अब तक 2 लाख 20 हजार श्रमिकों के खाते में उक्त धनराशि डाल दी गई है। जल्द ही 16 हजार श्रमिकों के खाते में भी धनराशि पहुंच जायेगी। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड भवन एवं सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड में पंजीकृत निर्माण श्रमिक हेतु राशन किट वितरण योजना शुरू कर दी गई है। प्रत्येक श्रमिक के घर पर राशन किट भेजने की व्यवस्था की गई है। राशन किट दस दिन में सभी को मिल जायेगी। मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार किसी भी हालत में श्रमिकों को भूखा नहीं सोने देगी तथा श्रमिकों के उत्थान एवं उनके लिए खाद्यान्न की पूरी व्यवस्था करेगी। इस मौके पर सहायक श्रम आयुक्त अरविन्द सैनी, लेबर इंस्पेक्टर वीपी जुयाल, श्रम मंत्री के पीआरओ सीपी नैथानी, मनीष रावत, विकास माहेश्वरी, उमेश त्रिपाठी, सुरेन्द्र गुंसाई, सुधीर बहुगुणा आदि उपस्थित रहे।
श्रमिकों का होगा टेमपरेरी रजिस्टे्रशन, मिलेगी राशन किट, आर्थिक सहायता
श्रम मंत्री ने कहा कि कोविड-19 के तहत भवन निर्माण कर्मकार बोर्ड द्वारा की ओर से 75 हजार श्रमिकों के लिए राशन किट तैयार की गई है। जिनका किन्हीं कारण बोर्ड में रजिस्टे्रशन नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि कर्मकार बोर्ड की ओर से ऐसे श्रमिकों का टेमपरेरी रजिस्टे्रशन किया जायेगा। इसके बाद उन्हें राशन किट और फौरी तौर पर दो-दो हजार रूपये की सहायता दी जायेगी। यह रजिस्टे्रशन नि:शुल्क होगा और इसकी वैधता महामारी तक ही होगी। इसके बाद अगर कोई श्रमिक बोर्ड में रजिस्टे्रशन करना चाहेगा तो उसे निर्धारित फीस जमा करनी होगी। उन्होंने कहा कि श्रम विभाग के द्वारा श्रमिकों को सार्वजनिक स्थानों के बजाय सीधे ही उनके घरों में राशन पहुंचाया जायेगा, ताकि सामाजिक दूरी का पालन हो सके। उन्होंने कहा कि जो वास्तविक श्रमिक है लेकिन वह श्रम विभाग में रजिस्टर्ड नहीं है, उन्हें भी लाभ दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!