शिक्षकों को स्कूल बुलाने के आदेश पर भड़का प्राथमिक शिक्षक संघ

Spread the love

अल्मोड़ा। धौलादेवी ब्लॉक के जागेश्वर संकुल समन्वयक के स्कूल खोलने और बच्चों को ऑफ लाइन पढ़ाने के आदेश जारी करने के बाद प्राथमिक शिक्षक संगठन ने
इसका विरोध शुरू कर दिया है। शिक्षकों ने विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों से मामले में कार्रवाई करने की मांग की है। हालांकि आदेश में स्कूल कब से खोले
जाएंगे यह स्पष्ट नहीं है। दरअसल धौलादेवी ब्लॉक के जागेश्वर संकुल प्रभारी ने 7 जुलाई को संकुल के प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापकों को एक आदेश जारी
किया गया। इसमें लिखा है कि सभी विद्यालय समयानुसार खुलेंगे, कार्यरत अध्यापकों की उपस्थित अनिवार्य होगी, सभी शिक्षकों को आठ किमी दायरे में रहना
अनिवार्य होगा। विद्यालयों में इसी हफ्ते में एसएमसी की बैठक की जाएगी सहित 15 बिंदुओं पर निर्देश जारी किये गये हैं। जैसे ही संकुल प्रभारी का यह आदेश
सोशल मीडिया में वायरल होना शुरू हुआ शिक्षकों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। शिक्षकों का कहना है कि संकुल प्रभारी का पद 2018 में ही खत्म कर दिया है।
लेकिन संकुल प्रभारी मोहर का दुरुपयोग कर शिक्षकों को आदेश जारी कर रहे हैं। शिक्षकों ने कहा कि जिला स्तरीय अधिकारियों से पता करने पर स्कूल खोले जाने
का कोई आदेश नहीं मिलने की जानकारी दी जा रही है। आरोप लगाया कि जिला एवं खंड शिक्षाधिकारी शिक्षकों को आदेश जारी कर सकते हैं। लेकिन इस तरह का
आदेश संकुल प्रभारी को भेजने का अधिकारी नहीं है। शिक्षकों ने आरोप लगाया कि आदेश भेजने वाले अधिकारी ही आठ किमी दायरे में नहीं रह रहे हैं।

जो आदेश जारी किया है वह स्कूल में एसएमसी बैठक में शिक्षकों को उपस्थित होने को किया गया है। शिक्षक एक दो बच्चों को स्कूल में बुलाकर होमवर्क देना
चाहते हैं तो दे सकते हैं। इस बारे में जारी किया गया है। मुझे मोहर नहीं लगानी चाहिये थी यह मेरे स्तर से गलती हुई है।
-एचसी अग्निहोत्री, संकुल प्रभारी जागेश्वर।

संकुल प्रभारी की ओर से आदेश जारी कर शिक्षकों को स्कूल बुलाने का हम विरोध करते हैं। जिला व खंड स्तर से अब तक स्कूल खोलने के कोई आदेश नहीं मिले
हैं। जबकि आदेश करने वाले अधिकारी ही आठ किमी दायरे में नहीं रह रहे हैं तो शिक्षक कैसे आठ किमी दायरे में रहेंगे। कोविड-19 के निर्देशों का पालन कर
शिक्षक काम कर रहे हैं। -जगदीश सिंह भंडारी, जिलामंत्री प्राशि संघ अल्मोड़ा।

संकुल प्रभारी अपने स्तर से शिक्षकों को आदेश जारी नहीं कर सकते हैं। वह खंड शिक्षाधिकारी का आदेश ही शिक्षकों को भेज सकते हैं। अब तक स्कूलों को खोलने
का आदेश नहीं मिला है। संकुल प्रभारी को आगे से इस तरह आदेश जारी नहीं करने के सख्त निर्देश दे दिये हैं। शिक्षक स्कूलों में जाकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ
कुछ बच्चों को वर्कशीट पर होम वर्क दे सकते हैं। इसमें कोविड-19 के नियमों का भी पालन करना होगा।
-एचबी चंद, सीईओ अल्मोड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!