आबकारी नीति घोटाले में 77 करोड़ की गाडिघ्यां, मकान और रेस्टोरेंट जब्त

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

नई दिल्ली, एजेंसी। दिल्ली आबकारी नीति घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पहली बार पांच आरोपियों की 76़54 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त किया है। ईडी के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार इन संपत्तियों के घोटाले से की गई कमाई से जुड़े होने के पुख्ता सबूत मिलने के बाद जब्त करने का फैसला किया गया। ईडी के अनुसार दिल्ली आबकारी नीति घोटाले में सरकारी खजाने को कम से कम 2873 करोड़ रुपये के नुकसान पहुंचाया गया।
ईडी की ओर से जारी आधिकारिक जानकारी के मुताबिक जिन संपत्तियों को जब्त किया गया है, उनमें दिल्ली के पाश इलाके जोरबाग में समीर महेंद्रू और उनकी पत्नी गीतिका महेंद्रू का मकान है, जिसकी कीमत ईडी ने 35 करोड़ रुपये बताया है। इसके साथ ही समीर महेंद्रू की कंपनी इंडोस्प्रीट की 50 गाडिघ्यों को भी जब्त किया गया है, जिनकी कीमत 10़23 करोड़ रुपये है।
इंडोस्प्रीट के 14़39 करोड़ रुपये के बैंक जमा और फिक्सड डिपोजिट को भी जब्त किया गया है। समीर महेंद्रू के साथ ही ईडी ने दूसरे आरोपी अमित अरोड़ा की गुरूग्राम के मेगनोलियस में स्थित 7़68 करोड़ की आवासीय संपत्ति को जब्त किया है। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी से जुड़े विजय नायर की मुंबई के परेल स्थित 1़77 करोड़ की संपत्ति को जब्त किया गया है।
जबकि दिनेश अरोड़ा के 3़18 करोड़ के तीन रेस्टोरेंट और अरुण पिल्लई की हैदराबाद में 2़25 करोड़ रुपये की जमीन को भी ईडी ने जब्त कर लिया है। ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि घोटाले में की गई अवैध कमाई का पता लगाने की कोशिश जारी है। उन्होंने कहा कि जिन संपत्तियों को जब्त किया है, उनके घोटाले से की गई अवैध कमाई से जुड़घ्े होने के पुख्ता सबूत है।
ईडी इस मामले में विजय नायर, समीर महेंद्रू, अमित अरोड़ा, सरथ रेड्डी, बेनय बाबू और अभिषेक बोइनपल्ली को गिरफ्तार कर चुकी है और ये सभी अभी न्यायिक हिरासत में जेल में है। उन्होंने कहा कि ईडी इस मामले में दो चार्जशीट भी दाखिल कर चुकी है और अदालत उनका संज्ञान भी ले चुका है। उनके अनुसार आरोपियों के खिलाफ जल्द ही अदालत में सुनवाई शुरू हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!