बाईपास के विरोध में ग्रामीणों ने तहसील में किया प्रदर्शन, एडीएम को सौंपा ज्ञापन

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार : नगर निगम के अंतर्गत सनेह क्षेत्र से एनएच 119 का बाई पास निकालने का एनएचएआई विरोध संघर्ष समिति ने विरोध किया है। इस बात से आक्रोशित सनेह क्षेत्र के लालपानी, नाथूपुर, बिशनपुर के ग्रामीणों ने समिति के बैनर तले तहसील में प्रदर्शन किया। वक्ताओं ने कहा कि वर्तमान में एनएच-534 पहले से ही अस्तित्व में है जिसका कौड़िया से बाजार होते हुए सिद्धबली तक चौड़ीकरण किया जाना चाहिए था लेकिन शासन और स्थानीय प्रशासन द्वारा जानबूझ कर सनेह क्षेत्र की आबादी को उजाड़ने के लिए बाईपास मार्ग का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा गया है। कहा कि सनेह क्षेत्र से बाईपास निकालने पर कई लोगों की उपजाऊ भूमि व आवासीय भवन इसकी चपेट में आ जाएंगे।
बतातें चलें कि राष्ट्रीय राजमार्ग 119 के कोटद्वार में बाईपास बनाने के लिए भूमि अर्जन को लेकर सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने अधिसूचना जारी की थी। जिस पर संबंधित अधिकारियों ने सनेह क्षेत्र से बाईपास निकालने के लिए सर्वे किया, लेकिन क्षेत्रीय जनता ने संघर्ष समिति का गठन कर इसका विरोध करना शुरू कर दिया। सोमवार को भी बाईपास के लिए भूमि अर्जन मामले में प्रशासन की ओर से एडीएम ईला गिरि बाईपास से प्रभावित लोगों की जन सुनवाई के लिए पहुंची थी, लेकिन बाईपास प्रभावित ग्रामीणों ने आबादी क्षेत्र से बाईपास निकालने पर आपत्ति जताते हुए तहसील परिसर में धरना शुरू कर दिया। ग्रामीणों ने कहा कि गांवों एवं बस्तियों को उजाड़कर किसी भी प्रकार के विकास को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। इस मौके पर ग्रामीणों ने एडीएम को ज्ञापन भी सौंपा। ज्ञापन सौंपने वालों में समिति अध्यक्ष आशीष रावत, पार्षद अनिल रावत, हरीश नेगी, धीरज सिंह नेगी, सुशीला बलूनी, महिंद्रपाल सिंह रावत, कुलदीप रावत, पूरण सिंह, ममता देवी, उमा देवी, सुशीला देवी सहित सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!