संकल्पों के साथ आगे बढ़ने का कांग्रेस का कार्यशाला में मंथन

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

कांग्रेस का जन्म स्वतंत्रता संग्राम की कोख में हुआरू सजवाण
नई टिहरी। जिला कांग्रेस कमेटी टिहरी गढ़वाल ने नव संकल्प क्रियान्वयन कार्यशाला का आयोजन किया। कार्यशाला में बतौर मुख्य वक्ता कांग्रेस के प्रभारी पूर्व विधायक गंगोत्री विजय पाल सजवाण ने कहा कि कांग्रेस का जन्म स्वतंत्रता संग्राम की कोख में हुआ है। कांग्रेस ने स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई लड़ने के साथ ही तमाम कुरीतियों में असमानता, भेदभाव, कट्टरता, रूढ़िवादिता, टुआटूत और संकीर्णता को दूर करने काम किया है।
राष्ट्रीय और राज्य स्तर के बाद जनपद स्तर पर बौराड़ी मिलन केंद्र में आयोजित कार्यशाला का शुभारंभ महात्मा गांधी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करने के साथ ही रघुपति राघव राजा राम का वाचन करते हुये कांग्रेसियों ने किया। सजवाण ने कहा कि 62 वर्ष तक स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई लड़ने के बाद 70 वर्षों तक देश की सेवा और विकास काम कांग्रेस ने बखूबी किया। बतौर वक्ता प्रतापनगर के विधायक विक्रम सिंह नेगी ने कहा कि कांग्रेस की असली ताकत संगठन में है। जिसे तेजी से मजबूत करने काम संकल्प क्रियान्वयन कार्यशाला के साथ करना है। जिसके तहत संगठनात्मक स्तर पर कांग्रेस को 90 से 180 दिनों के भीतर देशभर में ब्लाकस्तर, जिलास्तर, प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर तक सभी रिक्त नियुक्तियों को पूरी कर जबाबदेही तय करनी है। ब्लाक के साथ ही मंडल कमेटियों को तय समय के भीतर गठन किया जाना है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता शांति प्रसाद भट्ट ने बताया कि कांग्रेस संगठन में राष्ट्रीय स्तर पर तीन नये विभागों में पब्लिक इनसाइट डिपार्टमेंट, राष्ट्रीय ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट और इलेक्शन मैनेजमेंट डिपार्टमेंट बनाये गये हैं। जिनसे कांग्रेस को मजबूती देने का काम किया जायेगा। इसके साथ ही राजनैतिक समूह पर भी फोकस है। जिलाध्यक्ष राकेश राणा ने बताया कि संकल्प के तहत भारत के लिए नव संकल्प आर्थिकी नीति पर भी फोकस किया गया है। मौजूदा षि संकट का संज्ञान लेते हुये किसान व मजदूर समूह के तहत किसानों को कर्ज के दलदल से निकालने पर संकल्प लिया गया है। शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष देवेंद्र नौडियाल ने कहा कि पार्टी ने सामाजिक न्याय व सशक्तिकरण समूह की संकल्प के तहत देश के शोषितों, वंचितों, पिछड़ों, गरीबों व अल्प संख्यकों के साथ षड़यंत्रकारी अन्याय व भेदभाव पर विस्तृत चिंतन किया गया। इस मौके पर प्रदीप जोशी, पुरुषोत्तम थलवाल, सुमना रमोला, आशी रावत, पूर्व प्रधान मेहरबान सिंह नेगी, मान सिंह रावत, मनीष कुकरेती, खुशीलाल, मुशर्रफ अली, नवीन सेमवाल, नरेश चंद रमोला आदि मौजूद रहे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!