कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में नया पार्टी अध्घ्यक्ष चुने जाने पर लिया गया फैसला, छाए रहे किसान आंदोलन समेत कई मुद्दे

Spread the love

नई दिल्ली, एजेंसी। कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति यानी सीडल्यूसी की शुक्रवार को बैठक हुई। इसमें संगठन के चुनाव, किसान आंदोलन समेत कई महत्घ्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में उठे मुद्दों, इन पर हुई चर्चा और हुए फैसलों के बारे में कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कांग्रेस कार्य समिति ने निर्णय लिया है कि जून 2021 तक निर्वाचित कांग्रेस अध्यक्ष चुना जाएगा।
केसी वेणुगोपाल की मानें तो कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण ने मई में संगठन के चुनाव कराने की पेशकश की थी लेकिन सीडब्ल्यूसी के सदस्यों ने पांच प्रदेशों के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इस कार्यक्रम में थोड़ा बदलाव का आग्रह किया। आखिरकार जून 2021 में कांग्रेस का नया अध्यक्ष चुने जाने पर फैसला हुआ।
कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद केसी वेणुगोपाल ने बताया कि कांग्रेस कार्यसमिति ने किसानों के साथ मजबूती से खड़े रहने का निर्णय किया। इसे लेकर हमने प्रस्ताव पास किया है। कार्यसमिति ने किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए ऊपर से नीचे के स्तर तक की कार्ययोजना तैयार की है। इससे पहले सूत्रों के हवाले से जानकारी सामने आई थी कि कांग्रेस संगठन के चुनाव मई महीने में कराए जा सकते हैं।
सूत्रों की मानें तो वरिष्ठ नेता मधुसूधन मिस्त्री की अध्यक्षता वाले केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण ने कांग्रेस अध्यक्ष समेत संगठन का चुनाव तमिलनाडु, केरल, पश्चिम बंगाल, असम और पुडुचेरी के विधानसभा चुनाव के बाद मई में कराने का प्रस्ताव रखा था। चुनाव प्राधिकरण ने 29 मई को अधिवेशन कराए जाने की पेशकश भी कर दी थी लेकिन कांग्रेस कार्यसमिति ने जून 2021 तक पार्टी का नया अध्यक्ष चुने जाने पर फैसला लिया।
मालूम हो कि पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष की जिम्मेदारी ली थी। बीते दिनों बिहार विधानसभा चुनाव और कुछ राज्यों के उप चुनावों में कांग्रेस के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद गुलाम नबी आजाद और कपिल सिब्बल जैसे दिग्घ्गज नेताओं ने पार्टी के सक्रिय अध्यक्ष की नियुक्ति की मांग उठाई थी।
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस में एक बड़ा धड़ा लंबे समय से राहुल गांधी को फिर से कांग्रेस की कमान दिए जाने के पक्ष में है। कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने हाल ही में कहा था कि कांग्रेस के 99़99 फीसद कार्यकर्ता चाहते हैं कि राहुल फिर से पार्टी का नेतृत्व करें। वहीं कुछ सूत्रों की मानें तो राहुल की जगह यदि केसी वेणुगोपाल सरीखे किसी दूसरे चेहरे को उतारा गया तो असंतुष्ट खेमा अपना उम्मीदवार उतार सकता है।
कांग्रेस कार्यसमिति ने किसानों के मसले के साथ कोविड टीकाकरण पर भी प्रस्घ्ताव पाघ्स किया। इसमें वैज्ञानिकों को धन्यवाद देने और लोगों टीकाकरण अभियान में भागीदारी की अपील की गई है। बैठक में अर्नब गोस्वामी की व्हाट्सएप चौट लीक मामले की जांच संयुक्त संसदीय समिति यानी जेपीसी से कराने का प्रस्ताव भी पारित हुआ। बैठक को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने कहा कि सरकार ने किसानों के मुद्दे पर अहंकार दिखाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!