माणा में सहकारी बैंक चमोली की शाखा का उद्घाटन

Spread the love

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डॉ. धन सिह रावत और नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक डॉ. जीआर चिताला ने किया बैंक का संयुक्त रूप से उद्घाटन
चमोली। श्री बदरीनाथ धाम व देश के अंतिम गांव माणा को भी अब बैंक सुविधा से जोड़ दिया गया है। उच्च शिक्षा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. धन सिह रावत और नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक डॉ. जीआर चिताला ने बैंक का संयुक्त रूप से उद्घाटन किया। सहकारी बैंक के उद्घाटन के बाद पहले ही दिन 255 खाते भी खोले गए। शुक्रवार सुबह बदरीनाथ धाम पहुंचे मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत और नाबार्ड के महाप्रबंधक डॉ. चिताला ने बदरीनाथ मंदिर पहुंचकर बदरी विशाल के दर्शन किए। इसके बाद दोनों ने माणा में संयुक्त रूप से सहकारी बैंक चमोली की शाखा का उद्घाटन किया। स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी माणा गांव की महिलाओं ने भोटिया नृत्य कर अतिथियों का स्वागत किया। इस मौके पर सहकारिता मंत्री डॉ. रावत ने कहा कि बैंक से आने वाले समय में सीमा पर तैनात सैनिकों और दूसरी पंक्ति के रूप में रह रहे ग्रामीणों के साथ देश-विदेश से आने वाले तीर्थ यात्रियों को बैंकिग सेवा मिलेगी। साथ ही एटीएम वैन लगाकर शाखा को और भी सुदृढ़ किया जाएगा। नाबार्ड के चेयरमैन डॉ. जीआर चिताला ने कहा कि उत्तराखंड के सभी जिलों में एक-एक एटीएम कैश वैन दी जाएगी। सीमांत जिले के हितों के लिए और विकास कार्यों के लिए एक फीसद ब्याज पर स्थापना कार्यों के लिए दिया जाएगा। कहा कि जिस प्रकार उत्तराखंड में सहकारी बैंक अच्छा कार्य कर रही है, नाबार्ड के द्वार उत्तराखंड के लिए खुल गए हैं। मुख्य प्रबंधक ज्ञानेंद्र मणि ने कहा कि सहकारी बैंकों को आधुनिक सुख-सुविधाओं से सुसच्जित किया जाएगा। सहकारी बैंक के जिला अध्यक्ष गजेंद्र सिंह रावत ने कहा कि चमोली जिले में दूरस्थ क्षेत्रों में बैंक खोले जा रहे हैं। कहा कि जिला सहकारी बैंक चमोली 17 करोड़ के मुनाफे में और शुद्ध लाभ आठ करोड़ पर प्रतिवर्ष है। बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से जुड़ने के लिए बेरोजगारों को लोन मेलों के माध्यम से विभिन्न माध्यमों से रोजगार दिया जा रहा है। इस अवसर पर ऋण मेला आयोजित कर 80 लाख रुपये के चेक काश्तकारों और बेरोजगारों को दिए गए। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर सिंह बिष्ट, पौड़ी के जिलाध्यक्ष संपत सिंह रावत, भगवती प्रसाद नंबूरी, लक्ष्मण सिंह रावत, किशोर सिंह पंवार, सहकारी बैंक के सचिव महाप्रबंधक रामपाल सिंह आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!