मौसम का बदलेगा मिजाज, बारिश एवं ऊपरी इलाकों में बर्फबारी की भी संभावना

Spread the love

देहरादून। उत्तराखंड में एक बार फिर मौसम का मिजाज बदलने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग द्वारा जारी पूर्वानुमान के मुताबिक आने वाली 23 जनवरी से प्रदेश के कई इलाकों में बूंदाबांदी के असार हैं। उसके बाद बारिश एवं ऊपरी इलाकों में बर्फबारी की भी संभावना जताई गई है। पिछले कई दिनों से प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में अच्छी धूप खिली है। दिन में सर्दी से राहत है, लेकिन रात में सर्द हवाएं एवं पाला पड़ रहा है।
वहीं मैदानी इलाकों में शीतलहर जैसी स्थिति बनी है। अगले कुछ दिनों में बारिश की संभावना से उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही बर्फबारी मसूरी एवं धनोल्टी में हो सकती है। उधर, यूसनगर एवं हरिद्वार जिलों के लिए विभाग ने येलो अलर्ट जारी किया है। यहां पर शीतलहर चलने की आशंका जताई गई है। वहीं, दून में धूप खिले रहने की संभावना है।
उत्तराखंड में कोहरे के कारण कई उड़ानों पर भी असर पड़ रहा है। इस कारण यात्री भी परेशान रहे। दूसरी ओर, मौसम विभाग ने मैदानी इलाके, विशेषकर हरिद्वार और यूएसनगर में शीतलहर का अलर्ट जारी किया है। फ्लाइटें रद्द होने से यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। मौसम का बदलता मिजाज हवाई सेवाएं प्रभावित कर रहा है। मैदानी क्षेत्रों में कोहरे की वजह से आमजन को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। गिरते पारे के साथ ही कोहरे की वजह से ठंड भी बढ़ गई है।
वहीं दूसरी ओर, पर्वतीय क्षेत्रों में पारे के गिरने से ठंड भी बढ़ गई है। गिरते तापमान की वजह से लोग अपने-अपने घरों में कैद हो गए हैं। ऊंचाई वाली चोटियों में बर्फबारी के बाद प्रदेशभर में शीतलहर जारी है। जबकि, राजधानी में बुधवार को भी मौसम शुष्क बना रहा जिससे ठंड बढ़ गई है। लोग गर्म कपड़े को अधिक से अधिक पहन रहे हैं ताकि ठंड से कुछ निजात मिल सके।

उत्तराखंड के मैदानों में कोहरा करेगा परेशान
देहरादून। उत्तराखंड में मैदानी जिलों में घना कोहरा छाने की संभावना जताई है। इससे यातायात में मुश्किल पेश आएगी। हवाई अड्डों पर न्यूनतम सीमा से कम दृश्यता के कारण विमान लैंडिंग व टेक ऑफ में प्रभाव पड़ेगा। सलाह दी गई है कि मैदानों में कोहरे के दौरान वाहन चालक फॉग लाइट का इस्तेमाल करें। मैदानी क्षेत्रों में वाहन चलाते समय अतिरिक्त सावधानी बरतें और गति धीमी रखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!