पर्यटन सचिव ने की बद्रीनाथ मास्टर प्लान के तहत प्रस्तावित कार्यो को लेकर बैठक

Spread the love

कोई विभाग बिना जिलाधिकारी की अनुमति के बद्रीनाथ में कोई भी निर्माण कार्य न करें: पर्यटन सचिव
चमोली। पर्यटन, संस्कृति, सूचना एवं नागरिक उड्डयन सचिव दिलीप जावलकर ने गोपेश्वर क्लेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए बद्रीनाथ मास्टर प्लान के तहत प्रस्तावित कार्यो को लेकर विस्तृत चर्चा की। उन्होंने कहा कि कोई विभाग बिना जिलाधिकारी की अनुमति के बद्रीनाथ में कोई भी निर्माण कार्य न करें। साथ ही सभी विभाग मास्टर प्लान के तहत प्रस्तावित प्रोजेक्ट को ध्यान में रखते हुए एकरूपता के साथ कार्य करना सुनिश्चित करें ताकि मास्टर प्लान के प्रोजेक्ट के साथ किसी भी निर्माण कार्य की ओवरलैपिंग न हो। पर्यटन सचिव ने कहा कि बद्रीनाथ मास्टर प्लान के तहत अभी 10 प्रोजेक्ट पर कार्य प्रस्तावित है जिसे तीन साल में पूरा किया जाना है। बद्रीनाथ में सीजन के हिसाब से देखा जाए तो यहॉ पर प्रस्तावित कार्यो को पूरा करने के लिए तीन साल में 18 महीने का ही समय मिलेगा। इन सब परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए प्रस्तावित कार्यो को पूरा किया जाना है। उन्होंने विद्युत, पेयजल, सिवरेज, सिंचाई, नमामि गंगे आदि विभागीय अधिकारियों को प्रस्तावित प्रोजेक्ट के साथ विभाग की प्रत्येक यूटिलिटी की स्वयं मैपिंग करने के निर्देश दिए और सर्विस यूटिलिटी के हिसाब से कही पर रिडिजाइन की जरूरत हो तो समय से संज्ञान में लाने को कहा। पर्यटन सचिव ने कहा कि राजस्व विभाग ने बद्रीनाथ में भूमि सर्वेक्षण का कार्य अच्छे से पूरा कर लिया है। उन्होंने भूमि हंस्तातरण के प्रस्ताव एवं भूमि से जुड़ी छोटी बडी सभी समस्याओं का भी समय से निदान करने को कहा। लोक निर्माण विभाग को प्रोजेक्ट एरिया में चिन्हित सरकारी भवनों के ध्वस्तीकरण के लिए शीघ्र धनराशि की डिमांड करने को कहा। पर्यटन सचिव ने कहा कि उडान योजना के तहत गौचर से जोशीमठ तक कनेक्टिविटी स्वीकृत की गई है जिसके लिए जोशीमठ में हैलीपैड जरूरी है। साथ ही ब्रदीनाथ में हैलीपैड बनने के बाद यात्रा सीजन के दौरान उडान योजना का विस्तारीकरण बद्रीनाथ तक किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने विभागों से चर्चा करते हुए उनकी समस्याएं भी सुनी। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने पर्यटन सचिव को बद्रीनाथ धाम में मास्टर प्लान के तहत अभी तक किए गए कार्यो के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इससे पूर्व पर्यटन सचिव ने जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बद्रीनाथ यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा भी की। उन्होंने तीर्थ यात्रियों एवं पर्यटकों की सुविधा के अनुसार यात्रा शुरू होने से पूर्व सभी व्यवस्थाओं को पूरा करने पर जोर दिया। एनएचआईडीसीएल तथा बीआरओ को समय से सड़क निर्माण कार्य पूरा करने तथा यात्रा मार्ग पर सभी प्रमुख स्थानों पर साइनेज लगाने के निर्देश दिए। कोविड के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग को पर्याप्त उपकरण रखने और नगर निकायों को स्वच्छता पर विशेष फोकस करने को कहा। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने पर्यटन सचिव को अगामी यात्रा व्यवस्थाओं को लेकर जिला स्तर पर चल रही तैयारियों से अवगत कराया। बताया कि जिले में यात्रा मार्ग को तीन जोन में बांटा कर यात्रा मजिस्ट्रेट की तैनाती करते हुए व्यवस्थाओं की मॉनिटरिंग की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि यात्रा के दृष्टिगत गोपेश्वर पेट्रोल पम्प को शिफ्ट किया जाना आवश्यक है। जिसके लिए जिला स्तर से सभी कार्यवाही की जा चुकी है। इस दौरान पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान, मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे, अपर जिलाधिकारी अनिल कुमार चन्याल, एसई लोनिवि मुकेश परमार, सीएमओ डा0 जीएस राणा सहित एनएच, लोनिवि, बीआरओ, जल निगम, जल संस्थान, विद्युत, नगर पालिका आदि विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!