पुरानी पेंशन बहाली की मांग कांग्रेस चुनावी घोषणा पत्र में शामिल करें

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
पौड़ी।
प्रदेश महासचिव सीताराम पोखरियाल ने श्रीनगर में विपक्ष के शीर्ष नेताओं प्रीतम सिंह, हरीश रावत, इंदिरा हृदयेश, मनीष खंडूरी को ज्ञापन देते हुए पुरानी पेंशन बहाली की मांग को घोषणा पत्र में शामिल करते हुए व इसे लागू करने के लिए एक रोडमेप देने की भी मांग की।
प्रदेश महासचिव ने कहा कि समस्त जनपदों में संघर्ष को तेज किया जा चुका है। धरातलीय लड़ाई की तैयारियों को तेज किया जा रहा है। यदि इस मांग का शीघ्र संज्ञान नहीं लिया गया तो कर्मचारियों को मजबूरन सड़कों पर उतरना होगा। प्रदेश महासचिव सीताराम पोखरियाल ने कहा कि कांग्रेस सरकार के सभी शीर्ष नेताओं से निवेदन है कि जिन राज्यों में कांग्रेस की सरकार है उन राज्यों में पुरानी पेंशन बहाली कर पुरानी पेंशन बहाली के लिए राज्य के कर्मचारियों को एक मजबूत संदेश देने की आवश्यकता है। हम कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली के लिए हर दल का दरवाजा खटखटाने के लिए तैयार है।
श्रीनगर शाखा अध्यक्ष राकेश रावत ने पुरानी पेंशन बहाली की मांग को बल देने के लिए कांग्रस के सभी वरिष्ठ नेताओं से अपील की। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में विधानसभा से संकल्प पारित कर केंद्र सरकार को भेजा जाय और कांग्रेस इसमें महत्वपूर्ण योगदान दे। इस बार होने वाले चुनावी घोषणा पत्र में पुरानी पेंशन बहाली का मुद्दा रखा जाए। मंडलीय मंत्री सौरभ नौटियाल ने बताया कि सरकार हमारी नियोक्ता है और हमारे सामाजिक अधिकारों व सामाजिक न्याय को सुनिश्चित करना उसका दायित्व है। नई पेंशन योजना के अंतर्गत आच्छादित कार्मिक सेवनिवृत होने पर सम्मान जनक जीवन जीने लायक धनराशि भी पेंशन के रूप में नहीं पा रहे हैं। ऐसे में सरकार को चाहिए कि वह कर्मचारियों की पुरानी पेंशन की बहाली मांग के बारे में गंभीरता से विचार करे। आलोक उनियाल कीर्तिनगर संयोजक ने कहा कि पुरानी पेंशन की लड़ाई गंभीरता से लड़ी जाय। संयुक्त मोर्चा ने कोरोनाकाल में भी मुद्दे को चर्चा में बनाये रखा है आगे भी इस लड़ाई की गति को बढ़ाते हुए धरातल पर जारी रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!