राजस्थान-हरियाणा बर्डर पर उग्र हुए प्रदर्शनकारी, तोड़ा बैरिकेट्स लगा भीषण जाम

Spread the love

रेवाड़ी, एजेंसी। दिल्ली-जयपुर हाईवे पर शाहजहांपुर-जयसिंहपुर खेड़ा (राजस्थान-हरियाणा सीमा) बार्डर पर बृहस्पतिवार को धरने पर बैठे आंदोलनकारी किसान ने हरियाणा पुलिस द्वारा लगाए गए बेरिकेड तोड़ कर आगे बढ़ गए। किसानों द्वारा बेरिकेड तोड़ने के कारण पुलिस को हल्के बल का प्रयोग भी करना पड़ा, जिसमें कुछ किसान घायल भी हो गए। पुलिस व अर्धसैनिक बल के जवानों ने दिल्ली की ओर बढ़ रहे आंदोलनकारियों को गांव भूड़ला के निकट रोक लिया। पुलिस ने वापस लौट जाने के लिए कहा, लेकिन आंदोनकारी वहीं हाईवे पर बैठ गए।
पुलिस ने किसानों को गिरफ्तार करने की चेतावनी भी दी है। हाईवे पर स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। किसानों के आगे बढ़ने के कारण हाईवे पर यातायात पूरी तरह ठप हो गया। घंटों तक लोग जाम में फंसे रहे।
शाहजहांपुर बार्डर पर लंबे समय से आंदोलनकारी किसान धरने पर बैठे हैं। बृहस्पतिवार को दोपहर बाद किसानों का एक जत्था ने बार्डर पर हरियाणा पुलिस द्वारा लगाए गए बेरिकेड तोड़ दिए और ट्रैक्टरों के साथ आगे बढ़ने लगे। आंदोलनकारियों को रोकने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। इस दौरान कुछ किसान घायल भी हो गए। पुलिस के प्रयासों के बावजूद करीब 40 ट्रैक्टर लेकर किसान आगे बढ़ गए। पुलिस ने किसानों को बनीपुर चौक, आसलवास व कसौला चौक पर भी रोकने का प्रयास किया, परंतु वह आगे बढ़ते रहे।
भूड़ला के निकट रोका जत्था
आगे बढ़ रहे किसानों को पुलिस, रेपिड एक्शन फोर्स व केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों ने हाईवे पर गांव भूड़ला के निकट रोक लिया। पुलिस द्वारा रोके जाने पर किसान वहीं सड़क पर बैठ गए। पुलिस के अधिकारियों ने किसानों से वापस लौटने का आग्रह किया, परंतु वह आगे बढ़ने पर अड़े रहे। पुलिस ने वापस नहीं लौटने पर किसानों को गिरफ्तार करने की चेतावनी भी दी। इसके बावजूद आंदोलनकारी सड़क पर डटे रहे, जिस कारण स्थिति तनावपूर्ण बन गई।
दिल्ली रोड पर लगा भीषण जाम
किसानों के हाईवे पर आगे बढ़ने के कारण पुलिस को यातायात डायवर्ड करना पड़ा। हाईवे पर हंगामा के कारण कसौला चौक, बनीपुर चौक व साबन चौक पर बनाए गए डायवर्जन प्वाइंट को बंद करना पड़ा और यातायात को राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-352 (पुराना नंबर-71) से रेवाड़ी की तरफ मोड़ दिया गया। अचानक यातायात रेवाड़ी की तरफ मोड़ देने से दिल्ली रोड पर करीब तीन किलोमीटर तक भीषण जाम लग गया तथा लोग कई घंटो तक जाम में फंसे रहे। देर शाम तक स्थिति में कोई सुधार नहीं हो पाया था तथा वाहन रेंग-रेंग कर निकलते रहे।
टोल फ्री कराने का प्रयास
दूसरी ओर कुछ किसान बृहस्पतिवार को एनएच-352 पर गांव गंगायचा स्थित टोल प्लाजा पर भी पहुंचे तथा टोल फ्री कराने का प्रयास किया। परंतु पुलिस बल की मौजूद्गी के कारण सफल नहीं हो पाए। किसानों ने कुछ समय के लिए टोल के निकट धरना देकर प्रदर्शन भी किया। करीब दो घंटा धरना देने के बाद वापस लौट गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!