पौड़ी गढ़वाल दुगड्डा के युवक के खाते से साइबर ठग ने उड़ाये 4 लाख 30 हजार

Spread the love

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। साइबर अपराधियों ने कस्टमर केयर का कर्मचारी बनकर एक व्यक्ति के खाते से 4 लाख 30 हजार रूपये निकाल लिये। पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पीड़ित ने गूगल पर गूगल पे का कस्टमर केयर नंबर सर्च किया था।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह बिष्ट ने बताया कि शनिवार देर सांय पंकज नेगी पुत्र गजपाल सिंह नेगी ग्राम ऐता दुगड्डा निवासी ने तहरीर दर्ज कराते हुए बताया कि वह एलआईसी का एजेन्ट है। एलआईसी की धनराशि को पॉलिसी धारकों से एकत्रित कर जमा करता है। 1 अक्टूबर 2020 को उन्होंने अपने एसबीआई खाते से एलआईसी में गूगल पे से 1601 रूपये जमा किये थे, जो कि उनके खाते से कट गये थे लेकिन एलआईसी में जमा नहीं हुए थे। पंकज नेगी ने बताया कि उन्होंने गूगल पर सर्च करके कस्टमर केयर नंबर प्राप्त किये। इन नंबरों से बात करने पर कस्टर केयर के द्वारा उन्हें एक ऐप खुलवाया और बताया कि उसका पैसा खाते में आ जायेगा, लेकिन उसके खाते में पैसे नहीं आये। कोतवाल ने बताया कि पंकज नेगी के उत्तराखण्ड ग्रामीण बैंक और भारतीय स्टेट बैंक के भी गूगल पे उसी नंबर पर लिंक थे। पंकज नेगी के एक खाते से 80 हजार रूपये और दूसरे खाते से 3 लाख 50 हजार रूपये अज्ञात व्यक्ति द्वारा फर्जी गूगल पे कस्टमर मेयर बनकर निकाल लिये। कोतवाल ने बताया कि पीड़ित की तहरीर के आधार पर अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 व 66(सी)/66(डी) आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
बता दें कि शहर में गूगल सर्च और सोशल मीडिया पर फर्जी कस्टमर केयर नंबर वायरल व अपलोड कर साइबर ठग लोगों को शिकार बना रहे है। ये लोग नामी कंपनी से मिलती-जुलती साइट बनाते है। ऑनलाइन आर्डर या नेट बैंकिंग प्रयोग करने वाले जब कोई जरूरत पर कस्टमर केयर का नंबर सर्च करते हैं तो इनका भी नंबर भी सामने आता है। जरूरतमंद मिलती-जुलती साइट होने के चलते समझ नहीं पाते और इनसे अपनी समस्या हल कराने लगते। नतीजा ठग कस्टमर केयर का एग्जीक्यूटिव बन कर बैंक, एटीएम व निजी जानकारी लेकर डिलीवरी या अतिरिक्त भुगतान वापस करने की जगह पूरा खाता ही खाली कर देते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!