कोटद्वार में एसडीएम सहित 10 और को हुआ कोरोना संक्रमण, शनिवार को खुलेगी तहसील

Spread the love

कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लगी थी एसडीएम को, पर समय नहीं हुआ था पूरा
जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार।
कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद 14 दिन पूरे न होने पर कोटद्वार के एसडीएम अर्पणा ढौंडियाल को कोरोना संक्रमण हो गया है। कोतद्वार तहसील प्रशासन की प्रमुख अधिकारी होने पर कोरोना संक्रमित होने के कारण तहसील परिसर को आनन-फानन में बंद करा दिया गया। तहसील पहुंचे अधिवक्ताओं के साथ काम करने वाले अन्य लोगों, स्टाम्प विक्रेताओं व तहसील पहुंची आम जनता को लॉउडस्पीकर के जरिए तहसील परिसर खाली करने को कहा गया। दोपहर एक बजे तक तहसील परिसर खाली कराकर उसके मुख्य गेट को बंद कर दिया गया। जिससे तहसील आने वाली आम जनता को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। जनपद पौड़ी गढ़वाल के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मनोज शर्मा ने बताया कि कोटद्वार तहसील के एसडीएम की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एसडीएम के संपर्क में आये कर्मचारियों व लोगों को चिन्हित किया जाएगा। चिन्हिकरण के बाद कोरोना जांच के लिए उनके सैंपल लिए जायेगें। उन्होंने बताया कि नियमानुसार अधिकारी या कर्मचारी के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद कार्यालय परिसर को सेनेटाइजट करके 24 घंटे बाद खोला जा सकता है। इसके अनुसार तहसील प्रशासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि शनिवार को अवकाश होने के चलते शनिवार को तहसील यथावत खुलेगी। 
कोटद्वार में अधिकारी भी कोरोना वायरस की चपेट में आ रहे है। तहसील कोटद्वार के एसडीएम की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई से कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। एसडीएम के संपर्क में आये कर्मचारियों और लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। ऐतिहातन तहसील को परिसर को सैनेटाइजेशन किया जा रहा है। होली त्योहार के बाद कोरोना वायरस दिन प्रतिदिन फैलता जा रहा है। अब उपजिलाधिकारी कोटद्वार कोरोना वायरस से संक्रमित हुई है। उपजिलाधिकारी में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद तहसील के कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय परिसर में स्थापित वार रूम की रिपोर्ट के अनुसार विगत 30 मार्च को उपजिलाधिकारी कोटद्वार का राजकीय बेस अस्पताल कोटद्वार में कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया गया था। जिसमें एसडीएम कोरोना पॉजिटिव पाई गई।
वहीं मालगोदाम रोड कोटद्वार निवासी 31 वर्षीय महिला, सिताबपुर निवासी 70 वर्षीय वृद्ध, 34 वर्षीय पुरूष, 62 वर्षीय वृद्धा, पदमपुर निवासी 80 वर्षीय वृद्धा, सत्तीचौड़ निवासी 25 वर्षीय युवक, 63 वर्षीय वृद्धा, शिवपुर निवासी 58 वर्षीय महिला, 67 वर्षीय वृद्ध की कोरोना जांच रिपोर्ट पाजिटिव आई है। इसके अलावा पौड़ी गढ़वाल में केदार मोहल्ला श्रीनगर निवासी 72 वर्षीय वृद्धा, नोएडा उत्तर प्रदेश निवासी 54 वर्षीय पुरूष, 16 वर्षीय बालक, श्रीकोट श्रीनगर गढ़वाल निवासी 26 वर्षीय पुरूष में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है।

जान लें कोरोना वैक्सीन असर दिखाने को लेती है पूरा समय
कोटद्वार के उपजिलाधिकारी अर्पणा ढौंडियाल को कोरोना के दोनों टीके लगने के बाद कोरोना होने की खबरें बिना पूरी जानकारी के कोरोना वैक्सीन पर शंका जताई जा रही है। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लेने के 14 दिन बाद ही कोरोना वैक्सीन कोरोना रोकथाम के लिए सक्षम हो पाती है। यहां पर भी बताया जा रहा है कि कोटद्वार के एसडीएम अर्पणा ढौंडियाल ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज मार्च माह के अंतिम सप्ताह में ली थी। दूसरी डोज लेने के 14 दिन पूरे होने को आते कि उससे पहले ही कोरोना ने एसडीएम को अपनी चपेट में ले लिया। विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना की दो डोज लेने के 14 दिन तक भी कोरोना संक्रमण की संभावना बनी रहती है। 14 दिन गुजरने के बाद भी भले ही व्यक्ति में कोरोना संक्रमित न हो पाये किन्तु कोरोना वायरस होने की संभावना बनी रहती है, जो कि सामने वाले बिना वैक्सीन के व्यक्ति के लिए खतरनाक हो सकती है। इसलिए कोरोना की वैक्सीन लगाने के बाद भी सावधानी बरतनी जरूरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!