सड़क चौड़ीकरण की मांग को लेकर कर्णप्रयाग पहुंचे सड़क आंदोलनकारी

Spread the love

चमोली। नंद्रप्रयाग-घाट मोटर मार्ग चौड़ीकरण को लेकर घाट विकासखंड के 55 गांवों के ग्रामीण की पैदल यात्रा का जत्था अपने दूसरे पड़ाव पहुंचने से पूर्व कर्णप्रयाग पहुंचा। इस दौरान क्षेत्रवासियों ने इन आंदोलनकारियों का स्वागत किया। ढ़ोल-नगाड़ों व बैनर पोस्टर के साथ तेज धूप में पसीने से तरबतर ग्रामीणों ने कहा कि मांग को लेकर वे सरकार के पास पैदल पहुंच रहे हैं। सोमवार को पहुंचे जत्थे के साठ से अधिक ग्रामीण पैदल यात्रा की अगुवाई कर रहे व्यापार संघ घाट के अध्यक्ष चरण सिंह ने कर्ण मंदिर परिसर में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा 122 दिनों से घाट विकासखंड में सड़क को ड़ेढ़ लाइन चौड़ीकरण की मांग को लेकर आंदोलन किया जा रहा है, लेकिन निरंकुश सरकार कोई सुनवाई नहीं कर रही। जल्दबाजी में सड़क के लिए निविदा जारी तो कर दी गई, लेकिन उक्त निविदा में सुधारीकरण व चौड़ीकरण को लेकर स्पष्ट जानकारी नहीं है। ऐसे में आंदोलन कर रहे ग्रामीणों ने %चलो सरकार के द्वार% कार्यक्रम के तहत पदयात्रा करने की ठानी और 254 किमी पदयात्रा शुरू की। आगामी 16 अप्रैल को यह लोग देहरादून पहुंचेंगे और देहरादून में रहने वाले चमोली के प्रवासियों को भी आंदोलन में शामिल करेंगे। उन्होंने कहा कि बीते तीन माह से अधिक समय से जारी सड़क चौड़ीकरण की मांग को लेकर वे अपनी आवाज सरकार तक पहुंचाने के लिए मानव श्रृंखला के साथ गैरसैंण विधानसभा के बजट सत्र के दौरान घेराव कर चुके हैं। इस दौरान महिलाओं सहित दर्जनों आंदोलनकारियों को लाठीचार्ज भी झेलना पड़ा, लेकिन उनकी मांग को पूरा नहीं किया गया। सोमवार को उनका रात्रि निवास नगरासू में होगा। उन्होंने कहा घाट-नंदप्रयाग मोटर मार्ग बेहद संकरा है, जिससे हर समय दुर्घटना का खतरा रहता है। बताया कि 254 किलोमीटर की उनकी पदयात्रा में 13 पड़ाव होंगे। इस मौके पर यात्रा में तुलाराम पांडे, लक्ष्मण राणा, गुडडु लाल, दीपक, हर्षव?र्द्धन, अब्बल सिंह, प्रकाश भंडारी, फते सिंह, नरेंद्र सिंह, दिनेश नेगी, कृष्ण मैंदोली, सौरभ सिंह, मोहन भंडारी, मान सिंह मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!