ठंड में रोडवेज की बसों में यात्रियों की कमी, डिपो को हर दिन लाखों का नुकसान

Spread the love
Backup_of_Backup_of_add

जयन्त प्रतिनिधि।
कोटद्वार। ठंड का असर कोटद्वार रोडवेज डिपो की आय पर पड़ रहा है। बिजनौर, मेरठ, गाजियाबाद, दिल्ली, नोएडा, फरीदाबाद, गुडंगांव, देहरादून, हरिद्वार और ऋषिकेश के लिए पर्याप्त यात्री नहीं मिल रहे है। सामान्य दिनों के मुकाबले परिवहन निगम को हर रोज करीब चार लाख रुपये का नुकसान झेलना पड़ रहा है।
कोटद्वार रोडवेज डिपो में सामान्य दिनों में यात्रियों की भरमार रहती है। लेकिन वर्तमान में डिपो की बसों में यात्रियों की संख्या काफी कम हो गई है। उत्तराखण्ड परिवहन निगम का कोटद्वार डिपो सबसे महत्वपूर्ण है। यहां से प्रतिदिन सैकड़ों यात्री बिजनौर, मेरठ, गाजियाबाद, नोएडा, दिल्ली, फरीदाबाद, गुड़गांव, जयपुर राजस्थान, चंडीगढ़, अमृतसर, हरिद्वार, देहरादून, ऋषिकेश सहित अन्य शहरों को आवाजाही करते है। त्योहार और शादियों के सीजन में तो डिपो से दिल्ली के लिए अतिरिक्त बसों का संचालन करना पड़ता है। सामान्य दिनों में जहां दिल्ली मार्ग पर करीब 24 बसों का संचालन डिपो से होता है तो त्योहार और शादियों के सीजन में 28 से 30 बसों का संचालन दिल्ली मार्ग पर करना पड़ता है। मैदानी मार्गों के अलावा पहाड?ी मार्गों पर भी डिपो की ओर से बसों का संचालन किया जाता है। वर्तमान में डिपो की ओर से दिल्ली मार्ग पर प्रतिदिन 23 बसों का संचालन किया जा रहा है, जबकि नोएडा उत्तर प्रदेश के लिए भी दो बसों का संचालन किया जा रहा है, लेकिन पर्याप्त यात्री नहीं मिल रहे है। जिस कारण डिपो को प्रतिदिन लाखों रूपये का नुकसान उठाना पड़ रहा है। आलम यह है कि शाम के बाद तो यात्री बिल्कुल नहीं मिल रहे है। मजबूरी में खाली बस चलाना पड़ रहा है। पर्याप्त यात्री न मिलने से आय भी नहीं मिल रही है।
कोटद्वार रोडवेज डिपो के एआरएम टीकाराम आदित्य ने बताया कि सर्दी के कारण हर रूट पर रोजाना यात्रियों की संख्या कम हो रही है। सुबह के समय तो यात्री मिल भी रहे है, लेकिन सांय के बाद यात्री नहीं मिल रहे है। इससे परिवहन निगम को नुकसान झेलना पड़ रहा है। सामान्य दिनों में निगम की रोजाना की आय 10 लाख रुपये होती है। लेकिन वर्तमान में यात्री की कमी के कारण प्रतिदिन 6 से 7 लाख रूपये की आमदनी हो रही है।

देहरादून रूट पर भी यात्रियों का टोटा
सामान्य दिनों में कोटद्वार डिपो से देहरादून रूट पर जाने वाले यात्रियों की भरमार रहती थी। सर्दी के सितम से यहां के लिए भी यात्री नहीं मिल रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक जनवरी के बाद यात्रियों की संख्या में इजाफा होना शुरू हो जाता है।

मसूरी बस का समय बदला
उत्तराखण्ड परिवहन निगम के सबसे महत्वपूर्ण कोटद्वार डिपो से मसूरी के लिए प्रतिदिन दो बसें चलाई जाती है। वर्तमान समय में एक बस सुबह साढ़े 4 व दूसरी बस सुबह साढ़े पांच बजे संचालित की जाती है। लेकिन डिपो प्रशासन की ओर से सुबह साढ़े पांच बजे चलने वाली बस के समय में बदलाव किया गया है। कोटद्वार रोडवेज डिपो के एआरएम टीकाराम आदित्य ने बताया कि मसूरी के लिए पहली बस सुबह साढ़े चार ही संचालित की जाएगी, जबकि दूसरी बस साढ़े पांच बजे के बजाय सात बजे संचालित की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!